सारण में गोली मारकर भाजपा नेता की हत्या

Janmanchnews
Janmanchnews.com
Share this news...
JMN Team
छपरा। जिले के मांझी थाना क्षेत्र के बाल मुकंद दास के मठिया गांव के निवासी और मांझी विधान सभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशी एवं भाजपा नेता केशवानंद गिरी की अज्ञात अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। घटना बुधवार की रात लगभग 11 बजे की है।

हत्या की घटना से आक्रोशित लोगों ने सड़क जामकर घंटो यातायात बाधित रखा। सड़क जाम कर रहे लोग घटना स्थल पर डीएम-एसपी को बुलाने की मांग पर अड़े हुए थे। घटना की सूचना मिलने के बाद सुबह में थानाध्यक्ष प्रभाकर पाठक घटना की जानकारी ली।

उन्होनें सड़क जाम हटाने का प्रयास किया। लेकिन आक्रोशित लोग नहीं माने। जिसके बाद रिविलगंज थानाध्यक्ष संतोष कुमार, कोपा थानाध्यक्ष मनीष कुमार, दाउदपुर थानाध्यक्ष अमरजीत कुमार, एकमा थानाध्यक्ष नीरज कुमार, रसूलपुर थानाध्यक्ष संजय कुमार के एकमा पुलिस निरीक्षक हीरालाल प्रसाद पहुंचे।सड़क जाम हटाने का प्रयास तब भी विफल रहा। एएसपी मनीष भी घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे। लेकिन काफी देर मशकत उन्हें भी करनी पड़ी। तब जाकर जाम हटाया जा सका।

घर से बुलाकर की गयी थी हत्या
भाजपा नेता केशवानंद गिरी की हत्या अपराधियों ने घर से बुलाकर किया। उनकी पत्नी ने बताया कि रात में करीब 11 बजे के बाद कुछ लोग आये और मोटरसाइकिल खराब होने की बात कहकर उन्हें घर से बाहर ले गये तथा बाहर ले जाने के बाद गोली मारकर उनकी हत्या कर दी।

घटना की जानकारी सुबह में तब हुई जब राहगीर ने सड़क पर पड़े हुए शव को देखकर परिजनों को सूचना दी। हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। पुलिस इसकी जांच कर रही है। इस घटना को लेकर क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चा का बाजार गर्म है।
सासंद समेत पहुंचे कई नेता-प्रतिनिधि
भाजपा नेता केशवानंद गिरी की हत्या की खबर मिलने के बाद महाराजगंज सांसद जर्नादन सिंह सिग्रीवाल समेत कई दलों के नेता व प्रतिनिध उनके घर पहुंचे और शोक संवेदना व्यक्त की। साथ हीं उनके परिजनों को ढाढस बढाया।

पहुंचने वालों में सांसद जर्नादन सिंह सिग्रीवाल, लोजपा नेता केशव सिंह, भाजपा नेता शैलेन्द्र सेंगर, शैलेंद्र सामाज, माकपा नेता डा. सत्येंद्र यादव, बीडीओ सूरज सिंह, सीओ सिद्धनाथ सिंह आदि शामिल है।
देर शाम हटा जाम
सहायक पुलिस अधीक्षक मनीष के पहुंचने के बाद देर शाम सड़क जाम हटाया गया। आक्रोशित लोगों को समझाने-बुझाने के बाद लोगों ने पुलिस को शव उठाने दिया। केशवानंद गिरी के पुत्र के बयान पर अज्ञात अपराधियों के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गयी है। पुलिस इसकी जांच कर रही है।
सकते में है लोग
जमीनी स्तर पर आम लोगों के बीच लोकप्रिय केशवानंद गिरि की हत्या की खबर से लोग सकते में है। लोगों को भरोसा नहीं हो रहा है कि उनकी हत्या की गयी है। दरअसल केशवानंद गिरि की सामाजिक पकड़ इस क्षेत्र में काफी मजबूत रही है।

आम लोगों से लेकर खास लोगों तक उनकी छवि मृदु भाषी और व्यवहार कुशल सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में रही है। हमेशा सामाज के जरूरतमंद लोगों के लिए संघर्ष खड़े रहने वाले केशवानंद गिरि का किसी के साथ कोई विवाद होने की जानकारी न तो परिजनों को है और न हीं केशवानंद को जानने वाले लोगों को है। इस वजह से लोग सकते में है।
फीका पड़ा गणतंत्र दिवस का उत्साह
केशवानंद गिरि की हत्या की खबर सुनते हीं क्षेत्र में गणतंत्र दिवस समारोह मनाने की तैयारी में जुटे लोगों का उत्साह ठंडा पड़ गया। सरकारी-गैर सरकारी संस्थानों तथा प्रमुख स्थलों पर आयोजित कार्यक्रम महज रस्म अदाएगी भर बनकर रह गये।

लोगों ने जैसे-तैसे समारोह को संपादित किया। मांझी से दाउदपुर जाने वाली सड़क पर जाम के दौरान काफी संख्या में लोगों की भीड़ जुटी थी। केशवानंद को जानने वाले लोगों का उनके घर पर काफी संख्या में भीड़ उमड़ पड़ी।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*