लगातार हुए दोहरे हत्याकांड से थर्राया जनपद, कानून व्यवस्था ताक पर

amethi mob
Janmanchnews.com
Share this news...
Meenakshi Mishra
मीनाक्षी मिश्रा

अमेठी। जनपद अमेठी अपनी राजनैतिक पहचान के साथ-साथ अपराधियों के गढ़ के रूप में छाप छोड़ रहा है। लचर कानून व्यवस्था व राजनैतिक प्रभाव अपराधियों के हौंसले को चाक चौबंद करने में कोई कोर कसर नही छोड़ रहे। गाहे बगाहे यदि पीड़ित पुलिस स्टेशन पहुँच भी जाये तो एफ आई आर दर्ज करने से लेकर विवेचना तक में नाकों चने चबाने पड़ते हैं। थक हारकर पीड़ित घर बैठ जाता है और हिंसा का शिकार होता है।

ताजा दर्दनाक मामला गौरीगंज विधान सभा के अंतर्गत आने वाले शाह गढ़ ब्लॉक का है। जहाँ पर बेख़ौफ़ बदमाशों ने बेहद निर्ममता से प्रधान संघ अध्यक्ष की हत्या कर दी। हत्यारों ने भयावह तरीके से प्रधान संघ अध्यक्ष सुनील कुमार उर्फ सोनू को पहले गोली मारी व उसके पश्चात नृशंसता का परिचय देते हुए उसके कुछ अंगों को धार दार हथियार से काट डाला।

विदित हो कि बीते दिन मकर संक्रांति के अवसर एक ओर जहाँ जनपद वासी खिचड़ी भोज का आनंद ले रहे थें। वहीं बेख़ौफ़ बदमाशों ने हिंदुस्तान समाचार के अमेठी ब्यूरो चीफ अजय सिंह के पुत्र की नृशंस हत्या करके शव को रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया था। किंतु दो दिन बीत जाने के बावजूद पुलिस के हाथ आरोपियों के गिरफ्त तक नही पहुँच सके। वहीं इस सनसनी खेज घटना का जनपद वासी मातम ही मना रहे थे कि कांग्रेस के नवनियुक्त राष्ट्रिय अध्यक्ष के प्रथम संसदीय क्षेत्र आगमन के दूसरे दिन हत्यारों प्रधान संघ के अध्यक्ष की नृशंस हत्या कर कानून व्यवस्था को खुली चुनौती दे डाली।

दरअसल मुंशीगंज कोतवाली क्षेत्र के ग्राम सभा टंडवा  के शाहगढ़ ब्लाक के प्रधान संघ अध्यक्ष  सुनील कुमार उर्फ सोनू कोरी पुत्र श्याम बोध, उम्र तकरीबन 28 वर्ष सोमवार शाम 6 बजे मुंशीगंज गए हुए थे। जहाँ से घर वापसी के वक्त भुसियावा रामगंज मार्ग पर भट्ठे के पास लगभग रात्रि 8 बजे घात लगाकर बैठे विपक्षियों ने पहले ग्राम प्रधान को गोली मार कर घायल कर दिया और उसके बाद धार दार हथियार से शरीर के कुछ अंगों को काट डाला।

परिजनों का आरोप…

परिवार वालों का आरोप है कि कुछ दिनों पूर्व प्रधान को दबंगों द्वारा जान से मारने की धमकी मिलने पर बीते 25 दिसम्बर को थाने पर तहरीर दी गयी किन्तु पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नही हुई। यदि वक्त रहते पुलिस चेत जाती तो शायद माजरा कुछ और होता।

परिजनों द्वारा हत्या के पश्चात थाने में चार नामजद व कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ तहरीर दी गयी है। वही मौके से एक बाइक की चाभी, 315 बोर की जिन्दा कारतूस को बरामद किया गया है।

घटना से आक्रोशित ग्रामवासियों ने बाँदा टांडा राष्ट्रीय राज्यमार्ग को जाम कर दिया। एसओ विनोद कुमार मिश्र के द्वारा दिये गए 24 घण्टे के आश्वासन के बाद गांववासी माने। पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है।

घटनास्थल पर पुलिस अधीक्षक के के गहलोत, अपर जिलाधिकारी ईश्वर चन्द, अपर पुलिस अधीक्षक बी सी दुबे, सी ओ गौरीगंज ने पहुँच कर गहनता से निरीक्षण किया। व परिजनों को आश्वस्त किया कि आरोपियों पर जल्द कार्यवाही कर उन्हें जेल भेजा जाएगा।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।