Arun yadav

नर्मदा के कण-कण का लूंगा मुख्यमंत्री से हिसाब: अरुण यादव

64

भोपाल। MP चुनाव अब नजदीक है। चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के बीच तकरार जारी है। इसी कड़ी में कांग्रेस ने अंतिम मौके पर एक बड़ा दांव खेला है।

दरअसल, CM शिवराज को उनके ही घर में घेरने के लिए कांग्रेस ने भाजपा का 15 साल पुराना तरीका अपनाया है। कांग्रेस ने बुधनी विधानसभा से पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव को उम्मीदवार बनाया है। अंतिम समय पर मिले टिकट को लेकर अरुण यादव ने कहा कि गहन चिंतन के बाद पार्टी ने उनका चयन किया है और जीत भी हासिल करेंगे।

आपको बताते चले कि अरुण यादव राज्य के पूर्व डिप्टी CM और कांग्रेस कद्दावर नेता सुभाष यादव के बड़े बेटे है। नेता सुभाष यादव 1993 से 2008 तक कांग्रेस के टिकट पर कसरावद के विधायक रहे। वहीं अरुण यादव कभी भी विधानसभा के सदस्य नहीं रहे। उन्होंने दो बार लोकसभा चुनाव जीता और मनमोहन सरकार में मंत्री भी रहे।

साथ ही अरुण यादव ने कहा कि ‘सबसे बड़ा मुद्दा जो है वो है मां नर्मदा के आंचल को छल-छल करने का काम अगर किसी ने किया है तो वो मुख्यमंत्री का परिवार है। पूरे प्रदेश में अगर रेत खनन का माफिया है या जनक है तो वो मुख्यमंत्री का परिवार है। पहले तो हम नर्मदा के कण-कण का हिसाब मुख्यमंत्री से लेंगे।’