पूनम

ओलंपिक खेलने के बाद परिणय सूत्र में बंधेंगे पूनम और धर्मराज

42

कॉमनवेल्थ गेम में गोल्ड मेडल जीतने वाली वाराणसी निवासी पूनम यादव, जबकि ओलम्पियन मिर्जापुर के धर्मराज यादव थल सेना में जाट रेजीमेंट में मेजर हैं…

Aslam Ali

असलम अली

 

 

 

 

 

 

मिर्ज़ापुर, चील्ह: विकास खंड कोन के मवैया गांव के धर्मराज यादव ओलंपिक खेलने के बाद विवाह करेंगे। फिलहाल उनका  ध्यान ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने पर है, जिसकी तैयारी में वह जुटे हुए हैं।

आस्ट्रेलिया में चल रहे कामनवेल्थ गेम में भारोत्तोलन में गोल्ड मेडल जीतकर देश का नाम रोशन करने वाली वाराणसी निवासी पूनम यादव रेलवे में टीटी के पद पर तैनात है, जबकि मिर्जापुर के मवैया निवासी उसके होने वाले पति धर्मराज यादव थल सेना में जाट रेजीमेंट में मेजर हैं।

धर्मराज भी वेटलिफ्टिंग के खिलाड़ी हैं। वह भी अब तक नौ स्वर्ण पदक, 11 रजत तथा पांच काँस्य पदक जीत चुके हैं। इसके अलावा सर्विसेस में 56.53 मीटर में सात बार गोल्ड जीतकर एक रिकार्ड बना चुके है। धर्मराज छह भाई एक बहन में सबसे छोटे है। उनके पिता बलदेव यादव दूध का व्यापार करते हैं जबकि माता भूवरी देवी गृहिणी हैं। धर्मराज और पूनम की मुलाकात खेल के दौरान हुई थी।

इसी दौरान दोनों ने परिणय सूत्र में बंधने का निर्णय ले लिया। करीब तीन साल पहले ही दोनों की शादी तय हो गई है।

छह अप्रैल को पूनम द्वारा आस्ट्रेलिया में गोल्ड मेडल जीतने की खबर लगते ही धर्मराज के परिवार में खुशी लहर दौड़ गई। सभी ने उसके परिवार को फोन पर पूनम की जीत की बधाई दी। इसके साथ ही धर्मराज के परिवार के लोगों ने गांव में मिठाई बांटकर खुशी मनाया। परिवार की माने तो दोनों ओलंपिक के बाद परिणय सूत्र में बधेंगे।