जमीन बेचकर घर में रखे दस लाख कैश व 12 लाख के जेवर उड़ा ले गए चोर

loot
Janmanchnews.com
Share this news...
Moinul Haque
मोईनुल हक़ नदवी

बेगुसराय। दो साल पहले बीमारी से एकलौते बेटे की मौत हो गई थी।और बाप पुश्तैनी जमीन बेचकर दोनों पोतिओं के नाम 10 लाख रुपये एफडी करना चाहते थे। एफडी करने से पूर्व ही शुक्रवार की रात दिगम्बर मिश्रा के घर मे घुसकर न केवल 10 लाख रुपए चुराए बल्कि घर मे रखे करीब 12 लाख रुपये के जेवरात व अन्य क़ीमती समान भी चुरा लिए।

यह वारदात मुफसिल थाना क्षेत्र के बड़ी एघु में दिगम्बर मिश्रा के घर मे हुई। चोरों ने उनकी पुतौह का चार पीस सोने का चैन, दो झुमके, दो बाली, दो कंगन, दो अंगूठी, हार सेट और 50 पीस चांदी का सिक्का समेत अन्य स्वर्ण आभूषण चुरा लिया। चोरी गयी सामानों की कीमत 12 लाख बताई गई है।

पीड़ित दिगम्बर मिश्रा ने बताया कि वे पोस्ट ऑफिस में राष्ट्रीय बचत अभिकर्ता हैं।उन्होंने बताया कि हमलोग रोजाना रात 11 बजे के बाद खाना खाते हैं। शुक्रवार की रात भी 11बजे खाना खाकर सो गए ।देर रात करीब 2 बजे जगे, तो देखा कि मेरे बगल वाले कमरे का दरवाजा खुला हुआ है। जब अंदर जाकर देखा तो शक हुआ।आलमीरा खोलकर देखा तो नगदी और जेवरात का डब्बा गायब था।

पीड़ित दिगम्बर मिश्रा ने बताया कि उनके पास सिर्फ एक अलमारी था। वे अलमीरा की चाभी तकिया के कवर के अंदर रखा करते थे। चोर बगल के छत के रास्ते मेरे घर घुसा होगा। तकिया से चाभी लेकर आराम से चोरी कर फरार हो गया। चोरी की वारदात चोरों ने आराम से अंजाम दिया। चोरी के बाद चोरों ने आंगन में लगे मरवा के पास बैठकर सोने के सोने के आभूषण आराम से निकालकर डब्बा को वहीं छोड़ कर फरार हो गए।

दिगम्बर मिश्रा ने बताया कि 28 अप्रैल को उन्होंने अपनी पुश्तैनी जमीन बेची थी।इसके बाद से लगातार नेयोता में रहने के कारण रुपये को फिक्स डिपाजिट नही करा सके थे। साथ ही गुरुवार को जब पोस्ट ऑफिस में एफडी कराने गए तो ज्यादा भीड़ के कारण वहां से वापस हो गए थे। और अलमीरा में लाकर सब रुपये रख दिये थे।

उन्होंने ने बताया कि उन्हें एकमात्र पुत्र विक्रम चन्द मिश्रा था। जिसकी शादी 2009 में हुई। शादी के बाद दो पोती हुई। 2016 में दुर्भाग्य से बीमारी की वजह से बेटे मौत हो गयी थी। और तब से दोनों पोती का सारा देख रेख दादा के ही जिम्मे था।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।