कैश क्राइसिस: फिर से नोट बंदी जैसे हालात, आरबीआई नहीं भेज रही है पैसे

note
Janmanchnews.com
Share this news...
Moinul Haque
मोईनुल हक़ नदवी

बेगूसराय। सूबे में विगत एक सप्ताह से आम लोगों को कैश की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। हजार दो हजार निकलने के लिए भी लोगों को बैंकों के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। शहर के अधिकतर एटीएम का शटर गिरा हुआ है जो खुला है उसपर नो कैश का बोर्ड टंगा हुआ है। जरूरतमंद रुपया निकलने के लिए पाँच से दस किमी. की परिधि में बैंकों के एटीएम का चक्कर लगाकर किसी परिचित के यहां हाथ फैलाने को मजबूर हो गए है।

आज सुबह के 10:30 हो रहे हैं पीएनबी मैन ब्रान्च का एटीएम बंद है। चन्द कदम के फासले पर यूको बैंक का एटीएम है उसमें नो कैश का बोर्ड लगा हुआ है। शहर में पटेल चौक स्थित एक्सिस बैंक का एटीएम है। मशीन तो तीन हैं लेकिन तीनों कैश लेस, उसी एटीएम के निकट ही इंडसइंड बैंक का एटीएम है उसमे कैश तो उपलब्ध है लेकिन उसपर पहले से बोर्ड लगा है कि तीन हजार से अधिक कैश नही निकलेगा।

अब गौर करने की बात यह है कि अभी फिलहाल लगन का सीजन है। लोगों के घरों में शादी विवाह है। ऐसे में कैश की किल्लत, ऐसे में लोग कहां जाएं।

वहीं सरकारी बैंक के बड़े अधिकारी बताया कि हमारे बैंक में ही कैश उपलब्ध नहीं है तो हम क्या कर सकते हैं और आरबीआई को पैसे उपलब्ध नहीं करा पा रही है।

कई लोगों से बात की लोगों ने अपनी अपनी परेशानी बताई कि किस तरह से आज कल बैंक कर्मी लोगों को परेशान कर रहे है। आपका पैसा आपके मन मुताबिक आपको ही नहीं मिल पा रहा है अगर आपको दस हजार निकलना है तो आपको दो या तीन हजार ही मिल पा रहा है। कुछ लोगों का तो यहां तक कहना है कि हमलोग इंतेज़ार कर रहे है कि कोई पैसा अकॉउंट में डाले और वही पैसा बैंक द्वारा हमको मिल जाये।

हालात को देखते हुए जब वित्तमंत्री से पैसौं की किल्लत के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हर बैंक के पास पर्याप्त बैलेंस उपलब्ध है। कैश की कोई परेशानी नहीं है। जबकि जमीनी हकीकत उसका उल्टा देखने को मिल रही है।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।