युवाओं को रोजगार ना देने को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ AIYF का आक्रोश मार्च

AIYF
janmanchnews.com
Share this news...
Moinul Haque
मोईनुल हक़ नदवी

बेगूसराय। हर वर्ष दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा करने वाले नरेंद्र मोदी के शासन में बेरोजगारी चरम पर पहुंच गई है। बेकारों को रोजगार तो नहीं ही मिला उल्टे मोदी सरकार की नीतियों ने रोजगार में लगे लोगों का भी रोजगार छिन गया है। महंगाई चरम पर पहुंच गई है। महिलाओं, दलित, पिछड़े एवं अल्पसंख्यकों के खिलाफ उत्पीड़न काफी बढ़ गया है।

इसे काबू करने के बजाए लोगों को पकौड़ा तलने और पान की दुकान खोलने की नसीहत देकर बेकारी से जूझ रहे युवाओं का माखौल उड़ाया जा रहा है। नौजवानों की समस्याओं को दूर करने के बजाय उनके धार्मिक भावना भड़का कर सांप्रदायिकता में उलझाया जा रहा है। मोदी सरकार तत्काल भगत सिंह राष्ट्रीय रोजगार गारंटी एक्ट संसद में पारित कर देश के सभी बेरोजगारों को रोजगार देने की गारंटी करें।

उपर्युक्त बातें ऑल इंडिया यूथ फेडरेशन के प्रदेश उपाध्यक्ष अभिनव कुमार अकेला ने राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम के तहत आहूत डीएम के समक्ष प्रदर्शन के दौरान कही। उन्होंने प्रदर्शनकारी युवाओं को संबोधित करते हुए मांग किया कि बेगूसराय जिला में भी संचालित हो रहे सभी महिला आश्रय गृह की गहन जांच हो और जिला प्रशासन तत्कालीन आश्रय गृहों की स्थिति को लेकर श्वेत पत्र जारी करे।

इस ऐतिहासिक क्रांति दिवस के अवसर पर संगठन द्वारा बेगूसराय में संचालित सभी महिला आश्रय गृह की शीघ्र जांच करने, महिला उत्पीड़न पर तत्काल रोक लगाने, बढ़ती बेरोजगारी पर अंकुश लगाने, भगत सिंह राष्ट्रीय रोजगार गारंटी एक्ट पारित करने, भीड़ द्वारा हत्या पर रोक लगाने, बेगूसराय में धार्मिक, सांप्रदायिक उन्माद फैलाने की कोशिश करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने, बेगूसराय नगर निगम क्षेत्र सहित सघन आबादी वाले सभी क्षेत्रों में वाहनों की न्यूनतम गति सीमा निर्धारित कर पावर हॉर्न बजाने पर रोक लगाने सहित सात सूत्री मांगों के समर्थन में प्रदर्शन किया जा रहा था।

वहीं प्रदर्शनकारी नौजवानों को संबोधित करते हुए जिला सचिव रूपक कुमार ने कहा कि बेगूसराय जिले में सुनियोजित तरीके से सांप्रदायिक उन्माद फैलाने की कोशिश लगातार की जा रही है। मोदी समर्थकों द्वारा आए दिन लोगों को अपमानित करने का काम किया जा रहा है। नरेंद्र मोदी के शासनकाल में बेरोजगारी चरम पर पहुंच गई है।

लगातार भीड़ द्वारा लोगों की हत्या की जा रही है और सरकार मूकदर्शक बनी हुई है। जबकि भीड़ द्वारा हत्या को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने भी केंद्र सरकार को निर्देश जारी किए हैं और इस पर सख्त कानून बनाने के लिए कहा है। लेकिन केंद्र और राज्य की सरकार में शामिल भाजपाई लोग दुष्कर्मियों को बचाने और छिपाने में लगे हुए है।

संगठन इसके खिलाफ लगातार संघर्ष जारी रखेगा और बेगूसराय जिले के भीतर नौजवान नौजवानों की व्यापक गोलबंदी सुनिश्चित करेगा। प्रदर्शन के दौरान छात्र-युवा नेता अमीन हमजा, सजग कुमार, अमरेश कुमार, किशोर कुमार, कुमार गौरव, शंभू देवा, नवीन कुमार, रामागार सिंह, अमन सम्राट, गोलू , राजकिरण, प्रिंस, जितेंद्र, राहुल, रोहित, आलोक, शिवम, संतोष, नीतीश आदि शामिल थे।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।