बेखौफ बदमाशों का कहर, दिनदहाड़े दबंग ठेकेदार को तीन बदमाशों ने मारी सात गोलियां, मौत

Murder
Janmanchnews.com
Share this news...
Moinul Haque
मोईनुल हक़ नदवी

बेगुसराय। बेखौफ बदमाशों ने एसपी कार्यालय से ठीक 500 मीटर दूर बेगूसराय के पोखरिया मोहल्ला में करीब 10 बजे दिन 50 वर्षीय दबंग ठेकेदार रामप्रीत कुंवर को गोलियों से छलनी कर दिया। ये दुर्घटना पोखरिया मोहल्ले में रौशन सिंह के घर के सामने हुआ। हत्या के बाद बदमाश आराम से बेखौफ अपनी बाइक को स्टार्ट कर हथ्यार लहराते हुए भाग गए।

हत्या की खबर सुनते ही इलाके में सनसनी फैल गयी। गोलियों की तड़तड़ाहट सुनकर आसपास के मकान में रहने वालों को शायद शादी का सीजन है शादी के पटाखों की आवाज है। लेकिन जब चीख पुकार की आवाज़ सुनी तो लोगों को आभास हुआ कि मामला कुछ और है फिर लोग घरों में दुबक गए और अपने घरों के खिड़की दरवाजे बंद कर लिए, पूरे मोहल्ले में सन्नाटा पसर गया।

बाइक सवार बदमाशों ने बाइक से जा रहे रामप्रीत को ताबड़तोड़ सात गोलियां मारी। इससे उनकी मौके पर ही मौत हो गयी। हालांकि स्थनीय लोग मात्र चार ही सुनने की बात बताते हैं। मृतक नगर थाना छेत्र के विष्णुपुर मोहल्ले में किराए के मकान में रहता था। असल मे रामप्रीत कुंवर उर्फ बुढ़वा मटिहानी थाना क्षेत्र के शंकरपुर बखड्डआ का रहने वाला था। हत्या की सूचना मिलते ही 10 मिनट के अंदर नगर थाना की पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई।फिर शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

एएसपी सह सदर एसडीपीओ मिथलेश कुमार ने बताया कि म्रतक रामप्रीत का भी आपराधिक इतिहास है।उस पर भी हत्या,अपहरण,रंगदारी, और जानलेवा हमला का कई केस दर्ज था। अभीतक परिजनों ने हत्या के पीछे किसी पर शक नही जताया है। करीब सात साल पहले शंकर पुर गांव में एक दबंग के रिश्तेदार की हत्या हुई थी। इस हत्या में रामप्रीत कुंवर और उसका पुत्र नितेश को भी आरोपी बनाया गया था। उस हत्या के बाद से मिर्तक के रिश्तेदारों के डर से गांव वापस लौटकर नही गया था, पूरा परिवार शहर में ही विष्णुपुर में रहता था।

रामप्रीत कुख्यात मुरारी सिंह का दाहिना हाथ था।मुरारी सिंह का गैंग ऐके 47 और ऐके 56 जैसे आधुनिक हथ्यारौं से लैस है। एक चर्चित ठेकेदार मंतोष की हत्या में मुरारी सिंह को नामजद किया गया था। तब आरोप ये लगा था कि मुरारी सिंह ने अपने भाई का बदला लेने के लिए मंतोष को मार डाला था। ये चर्चित हत्या शहर  से सटे हररख मोहल्ले में सरे आम हुआ था।

ये घटना 50 दिनों में एक ही मोहल्ले में 25 मीटर की दूरी पर दूसरी हत्या है, इस घटना में जो निकलकर सामने आया है वो ये की इस हत्या में भू माफिया का हाथ हो सकता है। फिलहाल पुलिस ने यही शक जाहिर किया है। क्योंकि उनकी कई लोगों से अदावत थी। जिसका कारण भूमि विवाद बताया गया है। फिलहाल इस हत्या के कारणों मज़ीद जांच हर एक बिंदु से चल रही है।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।