बावरिया के बयान से फूटा यादवों का गुस्सा, फूंका पूतला, मांगा इस्तीफा

bhopal congress protest
Janmanchnews.com
Share this news...
Rajkumar jayaswal
राज कुमार जायसवाल

भोपाल। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के महासचिव और प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया के यादव समाज पर दिए गए बयानों के बाद सियासी संग्राम छिड़ गया है। बावरिया के बयान के विरोध में पूरा यादव समाज एकजुट हो गया है। यादव समाज ने बावरिया के बयान की कड़ी निंदा की है। इसके साथ ही आज बयान का विरोध जताते हुए यादव समाज ने पीसीसी के सामने बावरिया का पूतला फूंका और बावरिया वापस जाओ के नारे लगाए। वही अरुण यादव समेत कई कांग्रेस नेताओं ने इस बयान पर नाराजगी जाहिर की है।

विरोध कर रहे यादव समाज के लोगों ने कहा कि यादव समाज को राजनीतिक पार्टियां हलके में ले रही है। इसका परिणाम उनको आगामी चुनाव में भोगना होगा। साथ ही समाज के लोगों ने बाबरिया के बयान पर आपत्ति जताते हुए उन्हें हटाने की मांग की है। हालांकि बावरिया पहली बार ऐसी असहज स्थिति में फंसे हुए ऐसा नहीं है। पहले भी बाबरिया विधानसभा टिकट के लिए 50000 रू जमा करने की बात कह कर और 60 साल से ऊपर के व्यक्ति को विधानसभा टिकट न दिए जाने की बात क्ह कर विवादों में फंस चुके हैं।

अब ऐसे में, जब अरुण यादव को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद यादवों का एक बड़ा धड़ा असंतुष्ट है। बावरिया का यह बयान जख्मों पर मरहम छिड़कने के बजाय नमक छिड़कने जैसा है।

गौरतलब है कि बीते हफ्ते बाबरिया ने महेश्वर से आए कांग्रेस कार्यकर्ताओं से बोल दिया था। यादवों के आपस में लड़ने पर भगवान श्रीकृष्ण भी नहीं बचा पाए थे, आप लोग भी लड़ो, अपनी सीट भी नहीं बचा पाओगे।

इस विवाद के बाद कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष अर्जुन सिंह, नपा अध्यक्ष हेमंत जैन सहित कई कार्यकर्ता निष्कासित कर दिए गए थे। हालांकि इन सब का निष्कासन वापस हो गया है। क्योंकि इन्होंने लिखित में माफी मांग ली थी। लेकिन बावरिया के इस बयान को किसी ने रिकॉर्ड कर ऊपर तक पहुंचा दिया है। जिसके बाद अब बावरिया में बैकफुट पर आ चुके हैं।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।