मुंडन

बीएचयू: स्टुडेंट्स फिर उतरे युनिवर्सिटी के खिलाफ सड़क पर, इस बार मुंडन करवाकर किया प्रदर्शन

1

बीएचयू प्रशासन से बीएससी के स्टुडेंट्स नाराज़, पेपर दोबारा कराये जाने की मांग…

Tabish Ahmed

ताबिश अहमद

 

 

 

 

 

 

वाराणसी: काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में एक बार फिर नाराज़ छात्रों ने सर मुंडवाकर अपना विरोध दर्ज कराया है। बीएससी फर्स्ट ईयर के छात्र ने डिपार्टमेंट के प्रोफेसर्स की मनमानी और विश्वविद्यालय प्रशासन के अड़ियल रवैये के विरोध में बीएचयू में स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर मुख्य मार्ग पर अपना सर मुंडवाया। इस दौरान सैकड़ों की संख्या में छात्र उपस्थित रहे।

खबर लिखे जाने तक छात्र रास्ते को जाम कर प्रदर्शन कर रहे हैं। मौके पर पहुंचे प्रक्‍टोरियल बोर्ड के अधिकारियों की भी छात्रों ने नहीं सुनी। छात्रों की मांग है कि पेपर फिर से कराये जाने के वादे के बाद भी पेपर नहीं कराया गया।

पिछले साल सितंबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के दौरान महामना की बगिया काशी हिंदू विश्वविद्यालय में छेड़खानी और शोहदों के डर से सिर मुंडवा लिया था, जिसके बाद इस घटना ने राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खिया बटोरी थी। आज फिर कुछ ऐसा ही नज़ारा देखने को मिला जब विश्वविद्यालय प्रशासन के अड़ियल रूख के खिलाफ एक छात्र ने अपना सर मुंडवा लिया।

सिर मुंडवाने वाले छात्र राकेश यादव ने आरोप लगाया कि बीएससी फाइनल ईयर में पढ़ने वाले छात्रों में से अधिकांश छात्र डिपार्टमेंट में प्रोफेसर्स की मनमानी और यूनिवर्सिटी प्रशासन के अड़ियल रवैये से परेशान हैं।

सर मुंडवाने वाले छात्र राकेश यादव  ने बताया कि हम सभी बीएससी के स्टूडेंट हैं और हर बार हमारे मैथ के पेपर को टफ बनाया जाता है जिसकी वजह से कमज़ोर छात्र ना चाहते हुए भी बैक पेपर के लिए मजबूर हो जाते हैं।

इस बार जब बैक पेपर आया तो हमने बात की तो चीफ प्राक्टर से बात की उनके सामने ही डिपार्टमेंट के हेड ने दुबारा परीक्षा की बात स्वीकार कर ली थी पर आज तक दुबारा परीक्षा नहीं हुई और वो अब अपनी बात से पलट रहे हैं जिसके खिलाफ आज हम लोग यहाँ धरने पर बैठे हैं और हमने सर मुंडवाया है।

इस सूचना पर प्राक्टोरियल बोर्ड के सदस्य भी पहुंचे, पर वो छात्रों को मनाने में कामयाब नहीं हो पाए और अभी भी आक्रोशित छात्र रास्ता जाम करके प्रदर्शन कर रहे हैं।