घर में घुस के तड़तड़ा देंगे…भाजपा एमपी मेरी सास और नवादा के डीएम मेरा साला है…ऑडियो सुने

Share this news...
Pankaj Pandey
पंकज पाण्डेय

बेगूसराय। पिछले दो दिनों से बिहार में एक ऑडियो वायरल हो रहा है। इस ऑडियो को अगर सच माने तो बिहार के स्वस्थ्य विभाग में एक बहुत बड़ा घोटाला चल रहा है। इसमें मुख्यमंत्री से लेकर स्वास्थ्य मंत्री तक पर कमीशनखोरी का गम्भीर आरोप लगाया गया है। इतना ही नहीं कई राजनेताओं के भी नाम और बहाली में रिश्वत की चर्चा है।

खुद को बिहार के एक पूर्व विधायक का कथित ‘दामाद’ बतलाने वाला यह शख्स घर में घुसकर ‘तड़तड़ाता’ है। विरोध करने पर पिस्‍टल सटाता है। वह एक भाजपा एमपी को अपनी सास बताता है। इतना ही नहीं, उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी तक पहुंच का दावा करता है। यह शख्स किसी राजनेता के दबंग रिश्‍तेदार नहीं बल्कि बेगूसराय के भगवानपुर प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में पदस्‍थापित डॉक्‍टर सुरेश कुमार हैं। इन दिनों वायरल एक एक ऑडियो में ये बातें सुनी जा रही हैं। यह ऑडियो जनमंच न्यूज़ तक भी पहुंची है।

सुने होश उड़ा देने वाले अॉडियो…

इस बाबत बेगूसराय के सिविल सर्जन डॉ. हरिनारायण सिंह से बात करने पर उन्होंने ने कहा कि उन्‍हें वायरल ऑडियो की जानकारी है। उन्‍होंने इसपर स्वत: संज्ञान लेते हुए स्पष्टीकरण मांगा है। जवाब मिलने पर नियम संगत कार्रवाई की जाएगी।

विदित हो कि कुछ दिनों पहले पीएचसी भगवानपुर में एक नवजात की मौत के बाद मृतक के परिजनों ने बवाल किया था। इससे भड़के पीएचसी में कार्यरत चिकित्सक डॉ. सुरेश व भगवानपुर प्रखंड प्रमुख की वार्ता का कथित ऑडियो वायरल हुआ है। प्रमुख के साथ हुई वार्ता के इस ऑडियो में डॉक्‍टर ने अपनी धौंस दिखाने के साथ-साथ पूरी सिस्टम को भी नंगा कर दिया है। मृतक नवजात के पिता चंदन कुमार शर्मा ने तेघड़ा एसडीओ को आवेदन देकर आरोप लगाया है कि डॉ. सुरेश कुमार ने उसे गाली देते हुए जान मारने की धमकी दी। उधर, कथित वायरल ऑडियो में डॉक्‍टर प्रखंड प्रमुख से कह रहे हैं कि चंदन उन्‍हें तंग कर रहा है।

प्रखंड प्रमुख से बातचीत में डॉक्‍टर ने नवजात की मौत का भी खुलासा किया है। ऑडियो के अनुसार एएनएम ने बच्‍चे की गर्दन पकड़ कर खींचा, जिससे उसकी मौत हो गई। इसमें डॉक्टर खुद को बेकसूर बताता है। चंदन द्वारा डॉक्‍टर पर इल्‍जाम की बाबत डॉ. सुरेश कहते सुने जाते हैं, ”चंदनमा को जूता खोलके मारेंगे, यहां पोस्टेड हैं, इसीलिए कमजोर हैं। घर में घुस के तड़तड़ा देंगे। ई भी कह दीजिएगा उसको। खुलेआम हम कहते हैं। …किसी को औकात नहीं है कि मेरे सामने आएगा, समझे।”

डॉक्‍टर ने आगे कहा कि उन्‍होंने चंदन को रूम में बंद कर पिस्टल सटा दिया था। कहा था कि पूरा चेंबर खाली कर देंगे। ये तीन साल पहले का बात है।

ऑडियो के अनुसार डॉक्‍टर ने आगे कहा, ”रमा देवी मेरा ददिया सास है, जान लीजिए। मनोज कुमार हमारा ममेरा साला है, जो नवादा का डीएम हैं, जान लीजिए। मेरा ससुराल मुजफ्फरपुर है, ई भी जान लीजिए। मेरा ससुर विधायक रहे हैं, ई भी जान लीजिए।” आगे फरमाते हैं, ”आप चलिए सुशील मोदी के पास। हम चलते हैं सुशील मोदी के पास। देखिए, किसको पहचानता है।”

डॉ. सुरेश ऑडियो में रिश्‍वत की बंदरबांट का पूरा खुलासा करते भी सुने जाते हैं। कहते हैं, ”सिविल सर्जन का साल में पांच करोड़ का प्रोजेक्ट है। पांच करोड़ में 20 परसेंट जोडि़ए कितना हुआ, उतना हमलोग देते हैं। डॉक्‍टर के इस कथित ऑडियो में प्रधानमंत्री व मुख्‍यमंत्री से लेकर भाजपा, राजद, कांग्रेस आदि दलों के नेताओं व मंत्रियों आदि तक के नाम आए हैं। 

इसमें एएनएम से लेकर सीडीपीओ तक की बहाली में पैसे का खेल, सरकारी अस्पताल से निजी अस्पताल तक मरीज पहुंचाने में कमीशनखोरी आदि की भी चर्चा है। यह ऑडियो पूरी व्‍यवस्‍था पर सवाल खड़े करता है, इसलिए इसकी सच्‍चाई की जांच जरूरी है।

Share this news...