बेगूसराय में फिल्माया गया फिल्म “अगवा” जल्द ही पूरी होकर प्रदर्शित होगी फ़िल्म

Bhojpuri film aagwa starcast
File Photo: फिल्म "अगवा" के सितारें
Share this news...
Santosh Raj
संतोष राज

बेगूसराय। फ़िल्म निर्माण के मामले में भारत सबसे अग्रणी देश के रूप में जाना जाता है। प्रति वर्ष यहां सैकड़ों फिल्मों का निर्माण होता है।देश-विदेश की हजारों फिल्में प्रदर्शित होती है। बड़े-बड़े प्रोडक्शन हाउस है। सुनियोजित तरीक़े से फ़िल्म का प्रदर्शन किया जाता है। बहुत-सी फ़िल्म सफल होती है तो कई असफल भी। बावजूद फिल्मों का न बनना कम होता है और न ही निर्माताओं का हौसला।

इन दिनों फ़िल्म निर्माण के क्षेत्र में नित नए लोग नई-नई कहानियां लेकर नए लोकेशन्स पर फ़िल्म निर्माण कर रहे है। ऐसे ही लोगों में है- राधे शर्मा। यह अपनी पहली फ़िल्म-“अगवा” लेकर बहुत ही जल्द आ रहे है। फ़िल्म की शूटिंग इन दिनों बिहार के कुछ स्थलों पर चल रही है। इसके बाद की शूटिंग दिल्ली, मुम्बई और फिर पड़ोसी देश नेपाल में होगी। पिछले दिन राधे शर्मा बेगूसराय जिले के प्रसिद्ध मंदिर जयमंगला गढ़ में अपनी फ़िल्म के एक सीन की शूटिंग के सिलसिले में आए थे।

उन्होंने शूटिंग देखने के लिए मुझे भी आमंत्रित किया। जब मैं वहाँ पहुंचा तो लोगों के भीड़ के बीच वह शूटिंग में व्यस्त दिखे। यहां फिल्माया जा रहा सीन कुछ इस प्रकार था-फ़िल्म का खलनायक मन्दिर में पूजा-अर्चना में लगा है तभी पुलिस की जीप आती है। ध्यानमग्न खलनायक को गिरफ्तार कर अपने साथ पकड़ कर ले जाती है।

कई रीटेक के बाद सीन ओके होता है। शूटिंग पूरी कर वह मुस्कुराते हुए मेरी ओर आते है। सामने पड़ी कुर्सी पर हमदोनों बैठ जाते है। सामने ही फ़िल्म के अभिनेता शंकर पासवान, अभिनेत्री प्रतीक्षा पांडेय और खलनायक रितेश मिश्रा और पवन पाण्डे बैठे है। लोगों की भीड़ उन्हें देखने के लिए बढ़ती ही जा रही है।

Bhojpuri film aagwa starcast
File Photo: फिल्म “अगवा” के सितारें

फ़िल्म के विषय में पूछने पर राधे शर्मा बताते है कि यह मेरी पहली फ़िल्म है। इसका निर्माता-निर्देशक और कहानी राइटर मैं खुद हूँ। इस फ़िल्म के लिए मैंने डेढ़ करोड़ का बजट रखा है। इस फ़िल्म में मैं नए लोगों को मौका दे रहा हूँ। पूरी टीम एकदम नई है। फ़िल्म में संगीत देने का काम प्रदीप रंजन, हरिश्चंद्र राजपूत और निशा शर्मा ने दी है। एक्शन जटाधारी जी की है।

फ़िल्म की कहानी की पर चर्चा करते हुए वह कहते है- पूरी तरह ग्रामीण पृष्ठभूमि पर यह फ़िल्म बन रही है। गांव के ही कुछ दबंग और पैसे वाले लोग गांव की भोली-भाली और खूबसूरत लड़कियों को शहर में नौकरी दिलवाने के बहाने ले जाते है।

वहां वह इन लड़कियों को बेच देते है। कुछ लड़कियों की अश्लील फ़िल्म बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करते है। अगर इससे आगे की कहानी बता दूं तो फिर फ़िल्म का सस्पेंस खत्म हो जाएगा। वह बताते है कि अब फ़िल्म की अगली शूटिंग दिल्ली में बहुत जल्द शुरू होगी।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।