BJP

भाजपा कार्यकारिणी समिति की बैठक हुई समाप्त, निशाने पर रही महागठबंधन सरकार

28

कीर्ति माला,

किशनगंज। दो दिनों से चल रही भाजपा की कार्यकारिणी समिति की बैठक बुधवार को समाप्त हो गई। इस दौरान इस बैठक में विपक्षी पार्टी के पार्टी प्रमुख ही निशाने पर रहे। भाजपा प्रदेश कार्यसमिति के आखिरी दिन पार्टी के निशाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ही रहे।

प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा- रावण की तरह लालू प्रसाद की आत्मा भी उनकी नाभि में है। चोट वहीं करना होगा। उन्हें संरक्षण देने वाली ताकत को खत्म करना होगा। तभी बिहार से भ्रष्टाचार खत्म होगा। लालू को किसका संरक्षण है, यह खुलेआम है। लालू व उनके परिजनों ने राजकोष को लूटा। उनकी संपत्ति खुले में आई।

नित्यानंद राय ने कहा कि हैरत है कि भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टॉलरेंस की बात कहने वाले नीतीश कुमार भी चुप हैं। नित्यानंद, बैठक के बाद मीडिया से मुखातिब हुए। उन्होंने उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव और मंत्री तेजप्रताप यादव के विभागों की कार्यप्रणाली पर भी सीधा हमला किया। कहा-सड़क, सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल आदि के काम पूरी तरह ठप हैं। दर्जनों परियोजनाओं पर काम नहीं हो रहा।

कार्यसमिति की बातों से यही लगा कि महागठबंधन सरकार, बिहार का विकास नहीं चाहती। जनता खुद को ठगा हुआ समझ रही है। लालू-नीतीश का जाना तय है। हां, नीतीश लोगों को सुनहरे सपने दिखाने का काम जरूर कर रहे हैं। विकास ठप है। सरकार भ्रष्टाचार, घोटालों को संरक्षण देने में जुटी है। जनता का पैसा लूटा जा रहा है। पूरे चर्चा में नित्यानंद विपक्षी पार्टी पर निशाना साधते हुए नजर आए।

उन्होंने ने यह भी कहा कि नीतिश सरकार के इन रवैयों से जनता त्रस्त है। अगली बार जनता इन्हें दुबारा बर्दास्त नहीं करेगी। जनता समझ चुकी है कि ये सरटकार हमारे लिए कुछ नहीं कर सकती है। जनता परिवर्तन चाहती है। ठगी नहीं । महागठबंधन की सरकार ने जनता को सिर्फ प्रलोभन देने का कार्य किया है। इस दौरान अगले कार्यक्रमों की भी जानकारी दी गई।