अपनी शादी से क्षुब्ध किशोर ने विवाह के रात में ही कर ली खुदकुशी

Suicide
Janmanchnews.com
Share this news...
Pankaj Pandey
पंकज पाण्डेय

गया। अपनी ही विधवा भाभी से घरवालों को किशोर के साथ शादी करवाना काफी महंगा पड़ा। अपने से आठ वर्ष बड़ी भाभी से परिवार वालों द्वारा विवाह से क्षुब्ध किशोर ने दिन में दबाव में शादी तो कर ली, लेकिन रात को गले में फांसी का फंदा लगा कर खुदकुशी कर लिया। बाल विवाह को सामाजिक और कानूनी अपराध नहीं मानने की भूल ने एक किशोर की जान ले ली।

यह बाकया गया जिले के परैया थाना क्षेत्र के रमना विनोवानगर की है। किशोर महादेव दास नवीं में पढ़ रहा था। उसकी शादी जबर्दस्ती उसकी ही विधवा भाभी से करा दी गई, जिससे वह आहत हो गया था। सोमवार को ही दिन में उसकी शादी हुई थी। उसकी भाभी रूबी देवी उम्र में उससे आठ वर्ष बड़ी है। इतना ही नहीं सात साल की एक बेटी और चार साल का बेटा उसे पहले से था।

मृतक किशोर के पिता चंद्रशेखर दास ने बताया कि उसकी बहु और राम प्रवेश दास की पुत्री रुबी की शादी 2009 में उसके बड़े पुत्र सतीश से हुई थी। सतीश पेशे से बिजली मिस्त्री था। विवाह के चार वर्ष बाद विधुत स्पर्शाघात से 2013 में उसकी मृत्यु हो गई। सतीश की मृत्यु के बाद बहु के मायके वाले लगातार उसकी दूसरी शादी कराने के लिए दबाव डाले हुए थे। बहु का मायका परैया थाना के मुबारकपुर टोला विश्वनाथपुर में है।

लड़का पक्ष ने दबाव में रूबी की शादी छोटे पुत्र महादेव दास से करने का मन बना लिया, जो अभी नाबालिग था। दोनों पक्षों ने मिलकर यह निर्णय आपसी सहमति से लिया। परैया थाने के समीप स्थित जमालपुर देवी मंदिर में दोनों पक्षों की उपस्थिति में विवाह करा दिया गया। साक्ष्य के रूप में एक समझौता पत्र भी बनाया गया, जिस पर दोनों पक्ष ने हस्ताक्षर किए।

इधर, इस विवाह से क्षुब्ध नाबालिग किशोर ने दिन में तो दबाव में शादी कर ली,पर रात में ही घर में फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। शौच के लिए निकले पिता की नजर पड़ी तो उन्होंने शोर मचाया। इसके बाद मंझले बेटे मनीष रविदास की मदद से शव को नीचे उतारा गया। मृतक के पिता विकलांग हैं। मां का निधन पंद्रह वर्ष पूर्व हो गया है।

सुबह सूचना मिलने के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। घटनास्थल पर मौजूद पुलिस अवर निरीक्षक बबन सिंह ने बताया कि दाह-संस्कार की तैयारी कर ली गई थी। रात करीब आठ बजे की घटना की सूचना सुबह स्थानीय थाना को दी गई। परिजन के लिखित आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया है।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।