बेटी-दामाद ने जमीन-जायदाद के लिए पिता को करवाया अगवा, खोज में पुलिस नाकाम

Lakhisarai
Janmanchnews.com
Share this news...
Munna Kumar
प्रतिनिधि- मुन्ना कुमार

लखीसराय। रिश्तों को दागदार कर देने वाली यह घटना सूबे के शिवपुरी मुहल्ला वार्ड न0 16 निवासी व प्रमुख व्यवसायी कृष्णमोहन दास पिता स्व0 अकल दास  की अगवा होने की है।

लगातार तफ्तीश में जुटी पुलिस को अबतक कोई सुराग हाथ नही लगा। 

यह मामला शिवपुरी मुहल्ला निवासी जीतु दास ने कवैया थाना में एक लिखित आवेदन देते हुए कहा की मेरा साला कृष्णमोहन दास परिवारिक कलह व अपने बेटी-दामाद एंव बेटा के डर-भय से मेरे घर में विगत नौ महिना से रह रहा था। वह प्रत्येक दिन की तरह सुबह साढें नौ बजे दुध लाने के लिए घर से निकला था लेकिन दो तीन घंटे बीत जाने के बाद भी वह घर नहीं लौटा तो आशंका होने पर उनका खोजबीन किया गया। लेकिन उसका कोई अता पता नही चला।

श्री दास ने आशंका जाहिर करते हुए आवेदन मे कहा की कृष्णमोहन दास की बेटी-दमाद व उनके बेटे ने सम्पति कि लालच मे कृष्णमोहन दास को गायब करा दिया है। उन्होंने अपने आवेदन में यह भी कहा है की कृष्णमोहन दास की बेटी-दमाद व उनके बेटे ने सम्पति कि लालच मे पूर्व में भी जमीन जायदाद हासिल करने के लिए अपहरण व हत्या का प्रयास किया था।

यह मामला कवैया थाना में जी 0आर0- 823/16 दर्ज है तथा इसी मामले में उनका दमाद जेल भी जा चुका है। श्री दास एवं अन्य परिजनों ने बेटी दमाद पर पुनः अपहरण कर हत्या किये जाने की आशंका जाहिर करते हुए कवैया थाना में आवेदन देते हुए कृष्णमोहन दास को जल्द से जल्द बरामद करने की गुहार लगाया है

Janmanchnews.com

पिता के साथ जानवरों जैसा व्यवहार…

प्राप्त जानकारी के अनुसार आठ माह पूर्व प्रमुख व्यवसायी कृष्णमोहन दास पिता स्व0 अकल दास के बेटी पिंकी देवी दामाद जितेन्द्र कुमार गुडडु एवं बेटा रोहित कुमार विटटु के द्वारा जमीन-जायदाद हासिल करने के लिए जबरन हाथ-पैर में लोहे की जंजीर से बांधकर बेरहमी से मारपीट किया था। बेटी दामाद द्वारा लगभग एक सप्ताह तक एक कमरें में बन्दकर नींद की सुई देकर प्रताड़ित किया गया था। लोहे की सिंकड़ से बांधकर पागल घोषित करने के लिए रांची मेंटल हास्पिटल में ले जाया गया था। जहां मेंटल स्पेशलिस्ट चिकित्सकों ने सही रहने के कारण भर्ती से लेने से इन्कार कर दिया था।

पुनः बेटी दामाद ने उसे लखीसराय में लाकर घर के एक छोटे कमरें में नजरबन्दकर बन्धक बनाया। जहां प्रतिदिन मारपीट किया जा रहा था। जमीन -जायदाद रजिस्ट्री करने के लिए जबरन दबाब बनाया जा रहा था। प्रतिदिन नींद का सुई देकर प्रड़ताड़ित किया जा रहा था। इसकी भनक मुहल्लेबासी को लगी । मुहल्लेबासीयों ने मिडिया के मदद से बेटी और दामाद चंगुल से प्रमुख व्यवसायी कृष्णमोहन दास  को मुक्त करवाया और उपविकास आयुक्त से मिलवाया गया था। उपविकास आयुक्त रमेश कुमार के पहल पर उसका इलाज सदर अस्पाताल में करवाया गया एवं पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के लिए कबैया थाना प्रभारी को निर्देश दिया गया था कि अतिशीघ्र मदद किया जाय। मानवीय संवेदनाओं को ताकपर रखकर बेटी और दामाद द्वारा इस तरह का घिनौना हरकत समाज के लिए ठीक संदेश नहीं है।

कृष्णमोहन दास की आवाज़…

पीड़ित प्रमुख व्यवसायी कृष्णमोहन दास ने बताया था कि मैं पागल नहीं हॅुं। मुझसे जबरन संपति हासिल करने के लिए मेरा बेटी और दामाद मारपीट कर बन्धक बना लिया था। मिडिया के पहल पर मैं मुक्त हुआ। मुहल्लाबासी व जिला कोर्ट के वरीय अधिवक्ता अरूण कुमार ने बताया कि कृष्णमोहन दास अरबपति व्यवसायी है। इनके बेटी और दामाद जायदाद के लिए इन्हे प्रताड़ित करतें है। इन्हें लोहे की सिंकड़ से बांधकर जबरन घर के एक कमरे में सप्ताह भर से बन्दकर मारपीट किया जा रहा था।

Janmanchnews.com

लोगों ने दिया था साथ….

इसकी भनक मिलते ही मुहल्लेवासी एवं पत्रकारों के पहलपर इनके बदमास बेटी और दामाद से मुक्त करवाया गया था। उपविकास आयुक्त रमेश कुमार ने बताया कि पीड़ित कृष्णमोहन दास की आपबीती सुनने के बाद किसी भी आदमी का जमीर हिल सकता है। उनके बेटी दामाद और बेट द्वारा जमीन-जायदाद के लिए बेरहमी से मारमीट करना बन्धक बनाना उचित नहीं है। हमने पीड़ित कृष्णमोहन दास का प्रशासनिक सुरक्षा व्यवस्था के बीच इलाज के लिए सदर अस्पाताल भेज दिया गया था एवं कानुनन कार्रवाई करते हुए कबैया थाना प्रभारी को दोषी के खिलाफ मामला दर्ज करने का निर्देश दे दिया गया था। उन्हें जिला प्रशासन द्वारा हरसंभव मदद किया गया।

इस संबंध में कवैया थानाध्यक्ष आशुतोष कुमार ने बताया की कृष्णमोहन दास की गायब होने की सुचना मिली है मामले की छानबीन की जा रही है पुलिस जल्द से
जल्द कृष्णमोहन दास को खोज निकालेगी।

Information Source: www.biharnews.com

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।