Rajyasabha

नामांकन के अंतिम दिन छह सीटों के लिए छह उम्मीदवार ने भरा पर्चा, सभी का निर्विरोध जितना तय

0
Pankaj Pandey

पंकज पाण्डेय

पटना। बिहार से राज्यसभा चुनाव के लिए सोमवार को नामांकन के अंतिम दिन छह सीटों के लिए केवल छह उम्मीदवारों द्वारा ही ही परचा भरे जाने से सभी छह सीटों पर निर्विरोध निर्वाचन लगभग तय हो गया है। जदयू और राजद से दो-दो, जबकि भाजपा और कांग्रेस से एक-एक उम्मीदवार ने बिहार विधानसभा के सचिव सह निर्वाची पदाधिकारी रामश्रेष्ठ राय को अलग-अलग सेटों में नामांकन पत्र सौंपा।

जदयू से किंग महेंद्र और वशिष्ठ नारायण सिंह, राजद से मनोज झा और अशफाक करीम, भाजपा से केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और कांग्रेस से पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश प्रसाद सिंह ने नामांकन दाखिल किया।  मंगलवार को इनके नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी होना है जबकि 15 मार्च को नामांकनवापसी का अंतिम दिन है। नामांकन वापसीकी समय सीमा समाप्त होने के बाद सभी उम्मीदवारों को तकनीकी रूप से विजय घोषित कर प्रमाणपत्र सौंप दिया जायेगा।

नामांकन के अंतिम दिन सबसे पहले कांग्रेस के अखिलेश प्रसाद सिंह ने तीन सेटों में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। वहीं, केंद्रीय मंत्री सह भाजपा उम्मीदवार रविशंकर प्रसाद ने सर्वाधिक चार सेटों में नामांकन पर्चा भरा। जदयू के दोनों उम्मीदवार किंग महेंद्र और प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने तीन, जबकि राजद के  दोनों उम्मीदवार मनोज झा और असफाक करीम ने दो-दो सेट में परचा भरा।सभी ने हर नामांकन सेट के साथ दस-दस प्रस्तावक पेश किये।

नामांकन के बाद जदयू के दोनों प्रत्याशियों किंग महेंद्र और वशिष्ठ नारायण सिंह ने सीएम नीतीश कुमार को धन्यवाद दिया। विधानसभा से निकलते हुए जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि यह बड़ी जिम्मेदारी है, जिसे वह निभाने के लिए तैयार हैं। पार्टी की तरफ से जो भी दायित्व दिया जायेगा, उसका वह निर्वहन करेंगे। किंग महेंद्र ने कहा कि वर्तमान मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य का चहुमुखी विकास हो रहा है।उन्हें नीतीश कुमार के नेतृत्व में गहन आस्था है और वह पार्टी की मदद के लिए हर तरह से हमेशा खड़े हैं।