suicide

पहले किया गया दुष्कर्म के प्रयास, तंग आकर छात्रा ने की खुदकुशी

47
Anil Aryan

अनिल आर्यन

रोहतास: भोजपुर के धनगाई थाना क्षेत्र के दलीपुर गांव में छेड़खानी व दुष्कर्म के प्रयास के बाद रविवार को दसवीं की छात्रा ने खुदकुशी कर ली। वह गले में दुपट्टा बांधकर पंखे से लटक गयी।

शुक्रवार की रात छात्रा के साथ गांव के ही दो युवकों द्वारा घर में घुसकर छेड़खानी की गयी थी। घटना के बाद छात्रा के परिजन भड़क गये और जमकर हंगामा किया।

इस दौरान पुलिस को शव उठाने से भी रोक दिया। इसे ले पुलिस व परिजनों के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई। परिजन स्थानीय पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा रहे थे। देर रात तक छात्रा का शव घर में पड़ा था। वहीं मौके पर पहुंची पुलिस ने दुपट्टा सहित अन्य सामान बरामद किया है।

शुक्रवार की रात गांव के दो युवकों द्वारा छात्रा के घर में घुसकर दुष्कर्म का प्रयास किया गया था। इससे आहत छात्रा ने रविवार को खुदकुशी कर ली। इस घटना से गांव में सनसनी मच गयी। सूचना मिलने पर स्थानीय पुलिस भी मौके पर पहुंची, पर परिजनों ने शव उठाने से रोक दिया। बाद में जगदीशपुर इंस्पेक्टर भी मौके पर पहुंचे और परिजनों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन परिजन मानने को तैयार नहीं हुए।

छात्रा के परिजन लापरवाह पुलिस अफसरों पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। इस संबंध में एएसपी दयाशंकर ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। कई एंगल से मामले की जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पूरा मामला स्पष्ट हो पायेगा। वहीं एसपी क्षत्रनीर्ल ंसह ने बताया कि पूरे मामले की जांच एएसपी से कराई जा रही है।

जो भी दोषी पाये जायेंगे, कार्रवाई की जायेगी। छात्रा की मौत व पुलिस की लापरवाही से परिजन काफी नाराज थे। गुस्साये परिजन स्थानीय थाना पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगा रहे थे। उनका कहना था कि शुक्रवार की रात ही दो युवकों द्वारा घर में घुसकर गलत काम का प्रयास किया गया। शनिवार की सुबह इसकी सूचना थाने पर दी गयी।

छात्रा की मां आवेदन लेकर थाने पर गयी थी, तब पुलिस द्वारा आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई के बदले उसे ही भगा दिया गया था। पहले छेड़खानी व फिर पुलिस की कार्रवाई से आहत छात्रा द्वारा इस तरह का कदम उठाया गया। हालांकि धनगाई थानाध्यक्ष ने परिजनों के आरोप को गलत बताया। उन्होंने कहा कि परिजनों द्वारा किसी तरह का आवेदन नहीं दिया गया था। दो युवकों द्वारा चोरी की नीयत से घर में घुसने की बात कही गई थी। छात्रा के परिजन शव उठाने के लिए उसके पिता का इंतजार कर रहे हैं।

जानकारी के अनुसार उसके पिता व भाई गुड़गांव में प्राइवेट जॉब करते हैं। शुक्रवार की रात हुई घटना की सूचना पर भाई तो रविवार की देर शांम गांव पहुंच गया, पर पिता सोमवार को पहुंचेंगे। उनके आने के बाद ही उसका शव उठाया जायेगा। बताया जाता है कि छात्रा दो बहन और तीन भाई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करें।