fire

दस वर्षों से न्याय के लिए भटक रही चन्दा ने अपने तीन बेटियों के साथ आत्मदाह का किया फैसला

105
Pankaj Pandey

पंकज पाण्डेय

 

समस्तीपुर। विगत दस सालों से न्याय की आस में भटक रही, डीएम से लेकर मुख्यमंत्री तक गुहार लगा कर थक चुकी एक महिला ने अब निराश होकर 20 दिसम्बर को कलेक्ट्रेट के सामने आत्मदाह करने का निर्णय लिया है।

चंदा द्वारा हस्ताक्षरित इस आशय की विज्ञप्ति उसके पिता छितरा मीनापुर, मुजफ्फरपुर निवासी हरेंद्र प्रसाद ने प्रेस को दी है।

इस विज्ञप्ति के अनुसार उजियारपुर प्रखंड स्थित लोहागीर निवासी कुमारी चंदा अपनी तीन बेटियों के साथ कलेक्ट्रेट के सामने आत्मदाह करेगी। उसके द्वारा आत्मदाह करते समय प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव, पूर्व केंद्रीय मंत्री एसएम फातमी व बिहार सरकार के पूर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी उपस्थित रहेंगे।

कहा गया है कि चंदा के पति की हत्या वर्ष 2007 में कर दी गई थी। दस साल से वह न्याय के लिए भटक रही है। समस्तीपुर से लेकर पटना तक गुहार लगायी। मुख्यमंत्री तक को आवेदन दिया। अब तक तक नतीजा कुछ नहीं निकला। 

विवश होकर मैंने अपनी तीनों पुत्री प्रीति, प्रिया व सुप्रिया के साथ 20 दिसंबर को कलेक्टे्रट के सामने आत्मदाह करने का फैसला किया है।