शराब, ठुमका, अश्लील गीत…! दरोगा की करतूत से शर्मसार हुई पुलिस महकमा

Share this news...

पंकज पाण्डेय की रिपोर्ट,

दरभंगा: रात के ग्यारह बज रहे थें। दरभंगा जिलान्तर्गत बिरौल थाना के डुमरी में ग्रिल व्यवसायी कमलेश शर्मा ने विश्वकर्मा पूजा के अवसर पर भक्ति जागरण का आयोजन कर रखा था। कर्यक्रम की शुरुआत कुछ घण्टे पहले ही हुई थी। श्रोता भक्ति गीतों का आनन्द ले रहे थें।

कार्यकम धीरे-धीरे परवान चढ़ रहा था। महिला गायिका जयकारे के साथ गीतों से श्रोताओं को भक्ति रस से सरोबार कर रही थी कि अचानक से बिरौल थाने की पुलिस जीप वहां आकर रुकी। हाथ में डायरी लिए दरोगा सतीश सिंह उतरें। पुलिस जीप से दरोगा को उतरते देख श्रोताओं को लगा कि अब कार्यक्रम बन्द होने वाली है क्योंकि इसके लिए थाने को सूचित कर आदेश नहीं लिया गया था।

दरोगा मंच के पास पहुंचते ही बोले- बन्द करो यह सब। पलभर आयोजन स्थल पर सन्नाटा छा गया। तभी दरोगा की आवाज़ फिर से सुनाई पड़ी- भोजपुरी गीत सुनाओ। दरोगा के आदेश पर भोजपुरी गीतों के साथ गीत-संगीत फिर से फिजा में गूंज उठी। मनपसंद अश्लील गीतों को सुनते ही दरोगा ठुमके लगाने लगे। नर्तकी पर रुपये लुटाने लगे।

यह देख माहौल में अफरातफरी मच गई। वहां उपस्थित कुछ लोगों ने जब विरोध जताया तो वर्दी की धौंस देते हुए वह उन लोगों से उलझ पड़े। इसी बीच कुछ लोगों ने वीडियो बनाकर सोशल साइट पर डाल दिया। सोमवार को उक्त वीडियो वायरल होते ही डीएसपी सुरेश कुमार ने मामले को संज्ञान लेते हुए इसकी रिपोर्ट एसएसपी सत्यवीर सिंह को की। उन्होंने विधि सम्मत कार्यवाही का निर्देश देते हुए दरोगा सतीश सिंह को निलंबित करते हुए गिरफ्तार करने का आदेश दिया।

आरोपित एएसआई को चेक-अप के लिए पीएचसी ले जाया गया। दोपहर बाद जांच हुई तो 67.5 प्रतिशत एल्कोहल पाया गया। तत्काल उसे उत्पाद अधिनियम 2016 के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है। बिरौल थाने के इंस्पेक्टर जीतेन्द्र नारायण सिंह के आवेदन पर कांड संख्या 390/17 दर्ज करते हुए दरोगा को न्यायिक अभिरक्षा में जिला मुख्यालय भेज दिया गया है।

डीएसपी सुरेश कुमार ने बताया कि आम लोगों की तरह ही दरोगा पर इस मामले में कार्यवाही की जा रही है। दरोगा ने पूछताछ के क्रम में कुशेश्वर स्थान के कलना से शराब की बोतल ख़रीने की बात स्वीकार की है।

Share this news...