एक दूल्हा और दो दुल्हन, रची गई थी ऐसी साजिश जानकर उड़ जाएंगे होश

Share this news...

कीर्ति माला,

शेखपुरा: शेखपुरा जिले के नगर थाना क्षेत्र के भदौस मोड़ के पास एक ऐसी घटना घटी कि सारे लोग दंग रह गए। जी हां! एक सीआरपीएफ के जवान चंदन की अपहरण की घटना। चंदन की शादी लखीसराय के पोखरामा गांव के परशुराम सिंह की बेटी से तय हुई थी। चंदन कुमार तय तिथि पर बारात लेकर लखीसराय जिले के पोखरामा जा रहे थे, तभी पहले से घात लगाए लोगों ने कई राउंड फायरिंग करते हुए दूल्हे को कार से बाहर निकाला और दूसरी कार में बैठाकर अपने साथ ले गए।

दूल्हे के अगवा होने की खबर सुनकर दूल्हन के परिजन परेशान हो गए। दूसरी ओर बरात में शामिल लोग रात में ही लखीसराय के रामगढ़ थाना पहुंचे और जल्द से जल्द दूल्हे को बरामद करने की गुहार लगगाई। पुलिस को छानबीन के दौरान पता चला कि चंदन की शादी पहले लखीसराय जिले के सिंगारपुर गांव के नागेश्वर सिंह से तय हुई थी। शादी पक्की होने की रस्में भी हो गईं थी, लेकिन शादी टूट गई थी।

इसके बाद चंदन की शादी लखीसराय के सूर्यगढ़ा थानाक्षेत्र के पोखरामा गांव के परशुराम सिंह की बेटी से तय हुई। चंदन की शादी कहीं और तय होने से पहली लड़की के परिजन गुस्से में थे। उन्होंने प्लान बनाया था कि बारात से ही दूल्हे को अगवा कर लिया जाए और जबरदस्ती शादी करा दी जाए। इसी प्लान के अनुसार नागेश्वर सिंह ने अपने सहयोगियों के दूल्हे को किडनैप कर लिया।

दूल्हे के अगवा की खबर सुन पुलिस हरकत में आई और चारों तरफ पुलिस की तैनाती कर दी। एक टीम लखीसराय के अशोक धाम मंदिर में तैनात हो गई, जहां लड़की के परिजनों के शादी के लिए आने की संभावना थी।

पुलिस की दूसरी टीम को लड़की के घर पर तैनात किया गया। दरवाजे पर पुलिस की तैनाती होने के चलते लड़की शादी के लिए बाहर नहीं जा पाई और न दूल्हे को वहां लाया जा सका। और पुलिस की डर से लड़की के परिजन दूल्हे को लखीसराय जिले के बड़हिया टाल के खुटहा के पास छोड़कर भाग गए।

दूल्हे ने फोन कर परिजनों को बुलाया और सुबह करीब 4 बजे बारात दूल्हा समेत दूसरी लड़की के घर पहुंचा। पुलिस के पहरे के बीच सुबह 6-7 के बीच चंदन की शादी दूसरी लड़की छोटी कुमारी से हुई। सही सलामत बाराती के साथ दूल्हा-दुल्हन को घर पहुंचाया गया। पुलिस की सूझबूझ से एक बड़े साजिश को नाकाम की गई।

Share this news...