सीतामढ़ी में 60 वर्षीय बुजुर्ग महिला को जमीन में जिन्दा दफन करने का क्या प्रयास

murder
Demo Pic
Share this news...
Santosh Raj
संतोष राज

सीतामढ़ी। बिहार के सीतामढ़ी जिले के रीगा थाना के सोनार गांव में कुछ दबंगों ने जमीनी विवाद में एक 60 वर्षीय बुजुर्ग महिला को जिन्दा दफन करने की कोशिश की। हालांकि ग्रामीणों के प्रयास से महिला को दबंगों से बचा लिया गया।

महिला की खराब स्थिति को देखते हुए उसे रीगा पीएचसी में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी स्थिति चिन्ताजनक देख चिकित्सकों ने उसे सीतामढ़ी सदर अस्पताल रेफर कर दिया है। सीतामढ़ी सदर अस्पताल में पीड़िता की हालत अभी भी नाजूक बनी हुई है। पूरे मामले को लेकर रीगा थाना पुलिस ने शिकायत दर्ज कर लिया है लेकिन अभी तक दबंगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गयी है।

पीड़िता के परिजन इस मामले में स्थानीय थाना पुलिस पर दोषी पक्ष को बचाने का आरोप लगा रहे हैं। हांलाकि सीतामढ़ी के एसपी ने मामले में जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है।

गौरतलब है कि रीगा थाना क्षेत्र के धोबी टोले में मात्र 6 डिसमिल भूखंड में तीन डिसमिल जमीन नवल बैठा व गोबिंद बैठा की है। जबकि तीन डिसमिल जमीन गांव के ही नागेश्वर बैठा, जिनिस बैठा और राम विनय की है। इसी जमीन पर नागेश्वर और जिनिस बैठा का अपना घर है।

जबकि उक्त 6 डिसमिल पर अपना पूरा मालिकाना हक ज़माने को लेकर गांव के दबंग नवल बैठा और गोबिंद बैठा ने कब्ज़ा करना चाह रहा था। जिसको कब्ज़ा करने को लेकर उसने कई ट्रेलर में मिट्टी लेकर जमीन पर मिटटी भराई कर रहा था। जिसका नागेश्वर बैठा और उसकी 60 वर्षीय मां गुलाबी देवी विरोध कर रही थी।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।