Bihar Teacher

अगर नीतीश सरकार हमारी मांगे नहीं मानी तो ‘जेल भरो अभियान’ चलाएंगे

46

निशांत सुमन, 

पटना। राजधानी के केंद्रों पर शनिवार को भी मैट्रिक परीक्षा की कॉपियों का मूल्यांकन कार्य शुरू नहीं हुआ। केंद्राधीक्षकों ने बताया कि कंट्रोल रूप व संबंधित थानों को सूचना देने के बाद भी केंद्रों पर पुलिस बल तैनात नहीं किए गए। इस कारण योगदान करने वाले शिक्षकों ने मूल्यांकन कार्य करने से इन्कार कर दिया।

वहीं, सातवें दिन भी नियमित, नियोजित व वित्तरहित शिक्षक केंद्रों पर शांतिपूर्वक धरना में शामिल हुए। जिला शिक्षा पदाधिकारी के नेतृत्व में डीपीओ व अन्य अधिकारी- पूरे दिन केंद्रों पर स्थिति का जायजा लेने में जुटे रहे। मांग पूरी होने तक जारी रहेगा शिक्षा सत्याग्रह बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष केदारनाथ सिंह ने कहा राज्य सरकार अधिकारियों के माध्यम से शिक्षकों को डरा रही है। इस बार शिक्षक मांग पूरी होने तक शिक्षा सत्याग्रह को जारी रखेंगे।

वित्तरहित शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मचारी महासंघ के महासचिव शंभू कुमार सिंह ने कहा कि वित्तरहित शिक्षक मांगों को लेकर पूरी तरह से गोलबंद हैं। सरकार अनुदान देती नहीं और रोकने की बात करती है। मांगों पर कार्रवाई सरकार नहीं करती है तो 18 अप्रैल को जेल भरो अभियान चलाया जाएगा।

सीबीएसई के नहीं मिल रहे शिक्षक जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के सूत्रों के अनुसार शुक्रवार को कई सीबीएसई स्कूल व संगठनों से मूल्यांकन कार्य में योगदान के लिए संपर्क किया गया। सीबीएसई स्कूलों में मूल्यांकन कार्य और नए सत्र शुरू होने के कारण वहां से भी निराशा ही हाथ लगी।