bilaspur airstrip

हवाई पट्टी चकरभाठा बिलासपुर बना मवेशियों के चरने का अड्डा

49
Praveen Maurya

प्रवीण मौर्य

बिलासपुर। कहते हैं की नगर पंचायत बोदरी में बन रहे हवाई पट्टी का कार्य जोरों पर है, लेकिन हकीकत कुछ और ही बयां करती है, कार्य तो किये जा रहे हैं लेकिन रफ़्तार कछुए से कम नहीं। शायद सभी कार्य सरकारी कागजों पर ही तेजी से चल रहे हैं।

लोक निर्माण विभाग संभाग क्रमांक 1 के कार्यपालन अभियंता मधेश्वर प्रसाद ने बताया कि लगभग 6 करोड़ की लागत से चकरभाठा हवाई पट्टी में निर्माण कार्य किया जा रहे हैं। जिसमें इनडोर-आउटडोर वेटिंग लाउन्ज, हवाई पट्टी के चारो ओर फेंसिग वायर से सुरक्षा घेरा तैयार करना और बिल्डिंग की मरम्मत के साथ ही प्रवेश द्वार बनाने का काम शामिल है।

लेकिन जहां तक देखा जाए तो यहाँ के काम की रफ़्तार कछुए की चाल से भी बदतर नजर आ रही है। यहाँ न तो किसी प्रकार की सुरक्षा को देखा गया है और न ही यहाँ किसी इमरजेंसी चीजों की उपलब्धता देखी जा रही है। ऐसा प्रतीत होता है की यहाँ पर केवल मवेशियों के चरने और जुगाली करने के लिए बनाई जा रही है।

यहाँ केवल मवेशियों का आतंक खुलेआम बेखौफ विचरण करते नजर आ रहे हैं। यहाँ फेंसिंग वायर से घेरने की योजना बनाई गई थी और इसके लिए भी काफी राशियाँ शासन द्वारा दी गई है। लेकिन आज तक इसे सुधारा नहीं जा सका है। अभी भी यह पुराने तारों से जड़े हुए हैं। जबकि यहाँ पर मंत्रियों व काफी वी.वी.आई.पी. का आना जाना लगा रहता है। जिसे अभी तक गंभीरता से नहीं लिया गया है, न जाने कब प्रशासन की नींद खुलेगी और विकास कार्यों में किये जाने वाला रुपये अपना रंग दिखायेगा।