देवी-देवताओं

बच गई काशी गर्म होनें से, देवी-देवताओं की वॉलपेटिंग्स पर कालिख पोत कर शहर का माहौल बिगाड़ने की हुई नापाक कोशिश

17

विगत 14-15 जुलाई को प्रधानमंत्री के काशी आगमन से पहले वीडीए ने शहर की प्रमुख इमारतों की दीवारों पर कराई थी देवी-देवताओं की वॉलपेटिंग्स…

–अंकुर मिश्रा


वाराणसी: काशी का अमन आसमाजिक तत्त्वों को रास नहीं आ रहा है, उन्होंने ने शहर की शांति पर शुक्रवार को उस समय घात करने की कोशिश की जब उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के आगमन से पहले बनारस की प्रमुख इमारतों के दीवारों पर बनाई गई देवी-देवताओं की तस्वीरों पर कालिख पोत दी। मामला अंधरापुल क्षेत्र में सिटी गार्डन की दीवार पर बनाई गई देवी-देवताओं की तस्वीर का है जिसपर  अराजकतत्वों ने कालिख पोत दी।

मामला सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो चेतगंज थाने में पुलिस की ओर से अज्ञात के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने का मुकदमा दर्ज किया गया। घटना को लेकर लोगों में खासा आक्रोश देखा गया।

14-15 जुलाई के पीएम मोदी के 13 वें दौरे के पहले वीडीए द्वारा काशी हिंदू विश्वविद्यालय के फाइन आर्ट्स के छात्र-छात्राओं से शहर की विशेषताओं पर फोकस करते हुए अलग-अलग क्षेत्र की इमारतों की दीवारों पर चित्रकारी कराई गई थी।

एक स्थानीय नागरिक रजनीश कन्नौजिया ने पुलिस को जानकारी दी कि गुरुवार की रात या शुक्रवार की भोर में सोची-समझी साजिश के तहत तस्वीरों पर कालिख पोती गई है। रजनीश ने मांग की कि आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

वाराणसी एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने प्रकरण के संबंध में चेतगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। इंस्पेक्टर चेतगंज घटनास्थल के आसपास की इमारतों में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज से आरोपियों को चिह्नित कर गिरफ्तार करेंगे।

अंधरापुल क्षेत्र मेें दीवार पर बनी देवी-देवताओं की तस्वीर पर कालिख पोते जाने की घटना को पुलिस महकमे ने गंभीरता से लिया है। इस घटना ने पुलिस की चुनौती बढ़ा दी है। माना जा रहा है कि सावन मेला के एक हफ्ता पहले अराजकतत्वों ने जानबूझकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश की है।

इसके मद्देनजर सावन मेले को लेकर अभी से अतिरिक्त सतर्कता बरतने की ताकीद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को की गई है। साथ ही, लोकल इंटेलिजेंस यूनिट के जवानों को कहा गया है कि शहर के माहौल पर पूरी तरह से नजर रखते हुए सूचना संकलन के काम में किसी भी स्तर पर चूक ना होने दें।

अंधरापुल क्षेत्र में दीवार पर बनी देवी-देवताओं की तस्वीर पर कालिख पोते जाने का मामला शुक्रवार को शहर मेें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ। व्हाट्स एप और फेसबुक पर लोगों ने तस्वीर को शेयर कर नाराजगी जताई और आरोपियों को दंडित करने की मांग की गई।

घटना के मद्देनजर खुफिया तंत्र भी एक्टिव हो गया है।