लड़के की मांग सुनकर दुल्हन ने खुद की माँग सुना रखना समझा बेहतर

Bride And Groom
Janmanchnews.com
Share this news...

सरफराज अहमद की रिपोर्ट,

सुपौल। विवाह हेतु तैयार मण्डप के इर्द-गिर्द देखने वाले कुछ लोग बैठे, तो कुछ खड़े थे। महिलाएँ मंगलगीत गा रही थी। कुंवारी लड़कियां अपने होने वाले जीजा से चुहलबाजी कर रही थी। हंसी-मजाक का माहौल था। मण्डप पर पण्डित जी वैवाहिक रस्म पुरे करने में व्यस्त थे। कई विधि के सम्पन्न होने के उपरांत पण्डित जी का स्वर गूंजा, अब सिंदूर दान की रस्म पूरी करें। तभी दूल्हा, दुल्हन के पिता से दहेज में और पैसे देने की मांग करने लगा।

इतना ही नहीं वह जिद पर अड़ गया कि जब तक दहेज नहीं मिलेगा। वह दुल्हन की मांग में सिंदूर नहीं भरेगा। दहेजलोभी दूल्हे की इस प्रकार की जिद और दहेज की माँग दुल्हन को नागवार गुजरी। दुल्हन ने दूल्हे की माँग मानने के बजाय अपनी माँग सुना रखने का निर्णय करते हुए शादी से इंकार कर दिया।

घटना सुपौल जिले के परसरमा गांव की है। अनुमण्डल थाना क्षेत्र के हृदयनगर निवासी बेचन शर्मा ने अपने बाइस वर्षीय पुत्र की शादी परसरमा गांव के एक व्यक्ति की बेटी के साथ तय की। लड़की वालों ने अपने सामर्थ्य के अनुसार लेन-देन किया। सोमवार की रात्रि बारात भी कन्या पक्ष के यहाँ ब्याहने पहुँची।

यथायोग्य स्वागत लड़की वालों ने किया। नाश्ता-पानी के बाद वरमाला की रस्म भी हिंदू रीति-रिवाज के साथ संपन्न हुई, लेकिन इस शादी पर तब अचानक ग्रहण लग गया जब दूल्हे ने शादी की अन्य रस्म निभाने से पूर्व दहेज की मांग रखते हुए शादी से इन्कार कर दिया।

दहेज लोभी दूल्हे की मांग को सुनकर दुल्हन ने शादी करने से इंकार करते हुए कहा कि मैं ऐसे घर में नहीं जाऊंगी, जहां दहेज के लिए मुझे परेशान किया जाएगा। लड़की की बात का शादी में शामिल लोगों ने भी सहमति जताई। यह सब सुनकर दूल्हा बरात के साथ भागने को तैयार था, लेकिन ग्रामीणों ने दूल्हा सहित सभी  बरातियों को विद्यालय में एक कमरे के अंदर बंद कर दिया।

अब समाज के गणमान्य लोगों के द्वारा अब इस बात की कोशिश की जा रही है कि कम-से-कम लड़की पक्ष द्वारा शादी समारोह के आयोजन में हुए खर्च की भरपाई लड़का पक्ष द्वारा की जाये, ताकि दहेज लोभियों को समाज के द्वारा सबक सिखाया जा सके। घटना की बाबत पूछे जाने पर थानाध्यक्ष चंद्रकांत गौरी ने बताया कि उन्हें फिलहाल ऐसे किसी मामले की जानकारी नहीं है। लिखित शिकायत मिलने पर उचित कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।