मुख्यमंत्री ने 514 करोड़ रूपए से अधिक लागत के निर्माण कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया

CM Shivraj
Janmanchnews.com
Share this news...

सुनिल कुमार बंसल की रिपोर्ट,

सीहोर। मध्यप्रदेश में महिला सशक्तिकरण के लिये विशेष कदम उठाये जायेंगें महिलाओं की आमदनी बढ़ाने के लिये महिला स्व सहायता समूहों को आजीविका मिशन से जोड़ा जायेगा। महिलाओं को शासकीय नौकरियों में 50 प्रतिशत आरक्षण देने की व्यवस्था की गयी है। इस आशय के उद्गार मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सीहोर जिले की रेहटी तहसील में आयोजित विभिन्न कार्यो के लोकार्पण एवं शिलान्यास के लिये आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये।

श्री चौहान ने कहा कि असंगठित क्षेत्र में काम करने वाली महिला श्रमिकों के लिये आगामी एक अप्रैल से विशेष व्यवस्था की गयी है। अब ऐसी पंजीकृत महिला श्रमिक के गर्भवती होने पर 6 से9 माह की अवधि में उनके खातें में चार हजार रूपये की राशि डाली जायेगी। पुत्री या पुत्र के जन्म देने पर महिला श्रमिक के खाते में 12 हजार रूपए जमा कराये जायेंगें। यह कार्य नगरीय क्षेत्र में नगरीय निकायों के माध्यम से तथा ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायतों के माध्यम से खातों में राशि डालने की व्यवस्था की गयी है।

लाड़ली लक्ष्मी योजना का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कह कि बेटी को वरदान बनाने के लिये लाड़ली लक्ष्मी योजना बनाई गयी है। मध्यप्रदेश में अभी सत्ताईस लाख से अधिक लाडली लक्ष्मी बेटियां है। जब यह इक्कीस वर्ष की हो जायेंगी। तो उनके खाते में 31 हजार करोड़ रूपए से अधिक की राशि उनके खातों में जमा कर दी जायेगी। पचास प्रतिशत आरक्षण बहन बेटियों को स्थानीय निकाय के चुनाव में दिया जायेंगा ताकि सही अर्थो में सरकार चलाने के सूत्र उनके हाथों में आयें।

श्री चौहान ने कहा कि किसी भी तबके के मेघावी बच्चों को उच्च शिक्षा से वंचित नही रहने दिया जायेगा। अब हायर सेकेण्डरी स्कूल में सत्तर प्रतिशत अंक तक लाने वाले बच्चों के इंजीनियरिंग, मेडिकल कालेजों में प्रवेश पर उनकी पूरी फीस सरकार भरेगी। बच्चों को पढ़ाई लिखाई के लिये अन्य सुविधाऐं भी उपलब्ध कराई जा रही है।

भावान्तर योजना का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि किसान को उसकी उपज का सही मूल्य दिलाने के लिये भावांतर योजना शुरू की गयी है। जो किसान अपनी उपज तत्काल नही बेचना चाहते है। उनके लिये यह व्यवस्था की गयी है कि अपनी उपज भंडार गृहों मे रखें तभी जब बाजार में अच्छे दाम मिल रहे हो तो भंडारण में लगने वाला किराया भी सरकार भरेगी। अभी गेहूँ का समर्थन मूल्य 1735 रूपए प्रति क्विंटल है। इस पर 265 रूपए का बोनस दिया जायेगा। किसान की तात्कालिक जरूरतों को पूरा करने के लिये वेयर हाउस में अनाज रखने पर अनाज की लागत का 25 प्रतिशत भुगतान की व्यवस्था भी की जा रही है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में अगले तीन साल में हर गरीब व्यक्ति को रहने के लिये पक्का घर मिल सके, यह सरकार की प्राथमिकता है। अभी रेहटी में 1121 पक्के मकान बनाकर दिये जायेंगें। पूरे प्रदेश में गरीबों की पहचान कर उन्हे मकान बनाकर देने की व्यवस्था की जा रही है।

इसके पूर्व मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 514.26 करोड़ रूपए लागत के 35 निर्माण कार्यो का लोकार्पण और शिलान्यास कियें। इसमें 274.67 करोड़ रूपए लागत की मरदानपुर समूह जल प्रदाय योजना का लोकार्पण शामिल है। इस योजना के माध्यम से 182 ग्रामों के निवासियों को नल-जल की सुविधा मिलेगी। लोक निर्माण विभाग द्वारा बनवाये जाने वाले 82.50 कि.मी. लम्बे मार्गो का शिलान्यास मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया। मालीवायॉं-झोलियापुर से वीरपुरा तक 33.85 कि.मी. लम्बी सड़क का लोकार्पण भी उन्होंने किया इसके निर्माण पर 49 करोड़ रूपए की लागत आयी है तथा इससे 35 ग्राम पंचायतों को आवागमन की सुविधा होगी। रेहटी में नवीन बस स्टेण्ड का लोकार्पण भी श्री चौहान ने किया।

कार्यक्रम मे सीहोर जिले के प्रभारी मंत्री और प्रदेश के लोकनिर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, वन विकास निगम अध्यक्ष श्री गुरू प्रसाद शर्मा, जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती उर्मिला मरेठा, जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती विमला साहू, म.प्र. वेयर हाउसिंग कारपोरेशन के अध्यक्ष श्री राजेन्द्र सिंह राजपूत, अपेक्स बैंक के प्रशासक  श्री रमाकांत भार्गव, सहित बडी संख्या में जन प्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।