nitish and amit shah

भाजपा पर दवाब बनाने के लिए नीतीश ने खेला खेल- कांग्रेस

17

पटना। 2019 में होने वाले चुनाव को लेकर कुछ दिनों से लगातार महागठबंधन दल के साथी कांग्रेस के द्वारा नीतीश कुमार को महागठबंधन में  शामिल होने के लिए लगतार न्योता देने के बाद अब कांग्रेस बड़ा यू टर्न लेते नज़र आई। सोमवार को इस मामला को लेकर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि राजद उनका सबसे भरोसेमंद सहयोगी है और नीतीश कुमार को वापस महागठबंधन में लेने का सवाल ही नहीं उठता। साथ ही उन्होंने कहा कि नीतीश को महागठबंधन में किसने न्योता दिया था, यह तो खुद नीतीश कुमार ने भाजपा पर दबाब बनाने के लिए प्रोपेगंडा किया था।

हालाकि बीते कुछ दिनों पहले दिल्ली में हुए जदयू कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी में महासचिव केसी त्यागी ने कहा था कि शक्ति सिंह गोहिल के साथ कई अन्य कांग्रेस के नेता ने जदयू से महागठबंधन में शामिल होने के लिए अपील की थी। मगर इस मामले पर जवाब देते हुए श्री त्यागी ने कहा था कि जब तक कांग्रेस राजद के साथ अपना स्टैंड क्लियर नहीं करती तब तक जदयू कांग्रेस के साथ कैसे जा सकती है ?

हालाकि बीते दिनों CM नीतीश कुमार ने जनसंवाद के मीडिया से बात करते हुए यह साफ़ कर दिया है कि वह एनडीए के साथ ही रहेंगे। साथ ही उन्होंने आने वाले चुनाव में 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ने का फार्मूला भी दिया था