30 करोड़ का बना डैम 7 सालों से एक एक बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं गरीब किसान

19
Praveen Maurya

प्रवीण मौर्य

बिलासपुर। गरीब किसान को ना पानी मिला ना जमीन का मुआवजा 7 सालों से तरस रहे हैं। गरीब किसान मामला पत्थलगांव जनपद पंचायत के सराइतोला ग्राम पंचायत के भरारी नाला में बनाया गया। जलाशय योजना के तहत बना डैम 7 सालों से बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहा है।

किसान दूर-दूर तक पानी के एक एक बूंद नजर नहीं आता है और 30 करोड़ का बना दिया गया। आधा अधूरा डैम गुणवत्ताविहीन सामग्री से गुणवत्ता विहीन बनाया गया। डैम एक एक बूंद पानी के लिए तरस रहा है।

वह वही गरीब किसान सर पर हाथ रखकर खेत में बैठे हैं। 30 करोड़ रुपए की लागत से बनाया गया डैम गुणवत्तापूर्ण होता तो सैकड़ों गांव के गरीब किसान लाभान्वित होते और गरीब किसान को अपनी जमीन का मुआवजा भी नहीं मिला और पानी भी नहीं मिला।

यह दो तरफा मार से किसान बेबस लाचार और मजबूर से हो गए हैं। 2011 में प्रारंभ किया हुआ डैम आज 7 साल बीतने के बावजूद भी पूर्ण नहीं बन पाया। कहीं ना कहीं अंदेशा को जन्म देता है और दाल में काला नजर आता है। गरीब किसानों का तो जमीन भी गई और पानी भी नहीं मिला।

संबंधित अधिकारी से पूछे जाने पर बताया कि कार्य कुछ अधूरा है और क्लोज़र का कार्य बाकी है कारी योजना में लाकर भागीरथी जल योजना के तहत फिर से टेंडर होगी और डैम को बनाया जाएगा। आज 7 साल बीतने के बाद नहीं बन पाया तो आगे गरीब किसानों को एक बूंद पानी तो नहीं मिला पर उम्मीदों में पानी जरूर फिर गया।