dewas farmer

सूबे में किसान है बदहाल, बैल के स्थान पर पिता-पुत्र स्वयं जोत रहे हैं खेत, हाय रे मजबूरी!

25
Anil Upadhyay

अनिल उपाध्याय की रिपोर्ट…

देवास। जिले के खातेगांव तहसील मुख्यालय से 10 दूर ग्राम पुरोनी पठार में बेलों के स्थान पर पिता-पुत्र तिफन में जोतकर खेत में बोहनी कर रहे हैं, जबकि उनके छोटे बच्चे और पत्नी के पीछे चल कर उनका हौसला बढ़ा रही है।

विज्ञान के इस युग में जब खेती के अनेक आधुनिक तरीके निकल गए हैं। ऐसी स्थिति में गरीब किसान के पास दो बैल भी नहीं है जो जिने तिफन में जोत कर कृषि कार्य कर सकें और ना ही उसके पास इतने पैसे कि वह ट्रैक्टर से अपने खेत की बखरनी करा सके।

dewas farmer hopless

Janmanchnews.com

धूल सिंह ने बताया कि उसे शासन द्वारा पुरानी पठार पर पट्टे पर जमीन मिली है। परिवार में 7 सदस्य  जिसमें बेटा हीरा और में तिफन में जुतकर खेत मे बोहनी कर रहे हैं, जबकि उसका छोटा बेटा तिफन पर बैठता है। पत्नी तिफन से बोहनी करती है बाकी बच्चे तिफन के पीछे चल कर पिता-पुत्र का हौसला बढ़ाते हैं।

जमीन पथरीली होने के कारण  ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है वही उत्पादन भी इतना नहीं आता है कि परिवार की आर्थिक परेशानी दूर कर सके।