सेना के हवलदार हीरो बन बोरबेल में गिरे बच्चे को 36 घण्टे बाद बाहर निकाला

child in fall well
Janmanchnews.com
Share this news...
Anil Upadhyay
अनिल उपाध्याय

देवास। जिला मुख्यालय देवास से लगभग 125km दूरी पर स्थित ग्राम कांजीपुरा थाना खातेगांव निवासी रोशन पिता भीमसिंह कोरकू उम्र 04 साल पड़ोसी ग्राम उमरिया निवासी हीरालाल जाट के खेत मे बने ट्यूबवेल के गडढे में 10 मार्च को लगभग 12:00 बजे गिर गया था।

बोर की गहराई लगभग 100 फीट थी किन्तु ऊपरी हिस्से में 09 इंच और 35 फ़ीट के बाद 06 इंच चौड़ा था, बच्चा गिरने के बाद इसी 06 इंच के मुहाने पर फंसा रहा। सूचना मिलने के बाद प्रशासन ने रोशन को बचाने की लिए बोरवेल के पास गड्ढा खोदना शुरू किया।

सेना के रेस्क्यू अधिकारियों ने साईड से सुरंग बनाकर बच्चे को निकालने की कोशिश की लेकिन चट्टान की वजह से मुश्किल खड़ी हो गई, निकालने के विकल्प पर काम किया रोशन ने अपने पिता के निर्देशानुसार दोनों हाथों को रस्सी के फंदे मे अपने हाथों को फसा लिया और हँसते हँसते बाहर आ गया।

रोशन के बाहर आते ही खुशियों की लहर गुंज गई। पुरे उमरिया गाव में दीवाली जेसा जश्न चारो और ख़ुशी की लहर चली।अब मौत को चकमा देकर बोरिंग के गड्ढे से बाहर आया रोशन अब खातेगांव के आदय अस्पताल में डाँ धर्मपालवैद्य की देखरेख मे स्वास्थ लाभ ले रहा हे माँ रेखा बाई पिता भीमसिह भी साथ है।

उल्लेखनीय है कि उमरिया गांव में शनिवार दोपहर 11 बजे 4 साल के बच्चे रोशन के बोरिंग में गिरने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया था। 40 फीट गहरे बोर में मासूम रोशन 27 फीट नीचे फंसा हुआ था, और बाहर निकालने के लिए गुहार लगा रहा है। शनिवार दोपहर बोरिंग में गिरे चार साल के बच्चे रोशन को बचाने का काम रविवार को  रात 11बजे तक जारी रहा।

36 घंटे से प्रशासन के आला अधिकारी कर्मचारी पोकलेन मशीन के माध्यम से खुदाई कार्य में लगे हुए थे। शाम 6:00 बजे के बाद खुदाई कार्य पूर्ण होने के पश्चात सेना ने तुरंत मोर्चा संभाला बोरिंग मशीन के द्वारा किया गया। गड्ढा तक पहुंचने के लिए सेना ने सुरंग बनाने का कार्य प्रारंभ कर दिया। 3 से 4 घंटे में मासूम बालक रोशन को सुरक्षित बाहर निकालने का पूर्ण प्रयास किया जा रहा है।

इस दोराण रोशन से लगातार बात कर रहे है विधायक शर्मा आशिश शर्मा रोशन हवा लेते रहना निकाल रहे हैं तेरे लिए मेहनत कर रहे हैं तेरे पापा मम्मी सब यही है डरना मत धीरे-धीरे सांस लेते रहना ऐसा का ऐसा ही बैठे रहना यह बात विधायक पंडित आशीष शर्मा 30 फीट नीचे बोरिंग के गड्ढे में गिरे रोशन से कर रहे हैं और उसे पल पल हौसला दिला रहे हैं कि तुझे सुरक्षित निकालेंगे।

ऱोशन को हर पल साथ रखने वाला भाई नितेश को यह सब पता था कि उसका भाई रोशन गड्डा मे हे ओर वह उूपर क्यो की रोशन के गड्ढे में गिरने की खबर सबसे पहले उसी ने मॉ को दी थी ग्राम उमरिया सहित आसपास के जिले सहित परे प्रदेश मे रोशन की सलामती के लिए प्रार्थना एवं दुआएं का दौर चलता रहा क्षेत्र में पहली ऐसी घटना है घटी थी, जिसे देखने के लिए उमड़ पड़े।

एनडीआरएफ के जवान सेना के जवान के साथ ही विधायक आशीष शर्मा जनपद अध्यक्ष श्रीमती गुलाब बाई टाडा सीईओ मनीषा चतुर्वेदी कलेक्टर आशीष सिंह, एसपी अंशुमानसिंह एडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी, एसडीएम जीवन सिंह रजक एचडी ऑफिसर सिंह भूरिया थाना प्रभारी तहसील काजी नेमावर थाना प्रभारी सी एस चौहान जिले के सभी थाना प्रभारियों के साथ ही पुलिस बल तहसीलदार दिनेश सोनी सीएम प्रभु पाटीदार वी एमओ गणपत सिंह बघेल डॉक्टर आरोप विश्वास एम पी विभाग के डी राजा कुंडल के साथ ही स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम जिला पंचायत सदस्य बलरा, डावढा संतोष मंडलोई, पूर्व विधायक कैलाश कुण्डल राजकुमारी कुंडल, बंटू गौतम गुर्जर, कचरु पटेल, शनिवार सुबह चार वर्षीय बालक रोशन खेलते समय गिर गया था।

बच्‍चे को बचाने के‍ लिए अभियान कई स्‍तरों पर चलाया गया। करीब 35 घंटे की मशक्‍कत के बाद 37 फीट गहरे बोरवेल में गिरे इस बालक को निकाल लिया गया। बच्‍चे को डाॅक्‍टरों की निगरानी में खातेगांव अस्‍पताल में भर्ती किया। आवतार सिंह ने बालक को निकाला।रोशन हजारों लोगों की दुआएं काम आई।भीम सिंह देवड़ा एवं रेखाबाई देवड़ा की मन्नत हुई पूरी। बालक रोशन सुरक्षित बाहर रेस्क्यू ऑपरेशन सफल रस्सी बांधकर सेना के जवानों ने बाहर निकाला।

खातेगांव नगर के इतिहास में पहली घटना 30 फीट नीचे गहरे गड्ढे में गिरा मासूम रोशन सुरक्षित बाहर निकलते ही मौके पर उपस्थित हजारों लोग नर्मदा माई के जय कारे भारत माता की जय किसान नारा गूंज मान कर रहे थे। हजारों लोगों की खुशियां उत्साह का माहौल देखने को मिला। हजारों की संख्या में लोगों ने पहुंचकर विधायक आशीष शर्मा को अपने कंधो पर उठा लिया और एक दूसरे को बधाई दी।

जिला कलेक्टर आशीष सिंह,एसपी अंशुमानसिंह खातेगांव कन्नौद अनुविभागीय अधिकारी जीवन सिंह रजक, एसडीओपी शेर सिंह भूरिया, खातेगांव थाना प्रभारी तहजीब काजी की टीम एवं भारतीय सेना के जांबाज जवानों का साहस एक बार फिर खातेगांव नगर में दिखाई दी। विधायक पंडित आशीष शर्मा ने मां नर्मदा के मिर्जापुर घाट पर पदयात्रा करते हुए हजारों समर्थक साथियों के साथ जो पिछले 36 घंटे से रोशन की खुशहाली की कामना कर रहे थे दुआ मना रहे थे।रोशन को रात 10 बजे निकाला गया।

दो बार ईश्वर की कृपा से बचा है मासूम रोशन…

रोशन की माँ रेखा बाई ने बताया कि रोशन इस घटना से पहले भी दो बार ईश्वर की कृपा से बच चुका है। करीब एक डेढ़ बर्ष पहले रोशन घर मे खटिया पर सोया था तभी अचानक आग लग गई थी जिसमे पूरी खटिया जल गई थी पर रोशन पूरी तरह बच गया था। इसके बाद शनिवार को भी बोरवेल में गिरने से पहले भी ग्राम कंजीपुरा में घर के सामने ही निजी बस की चपेट में आने से बच गया था इसी कारण रोशन को उसके माता पिता ने मजदूरी करने जाते समय साथ ले गए थे।

इस तरह बोर में गिरा मासूम रोशन…

बोर में गिरा बच्चा कांजीपुरा निवासी रोशन पिता भीमसिंह कोरकू है। रोशन की मां रेखा ने बताया कि वह शनिवार सुबह अपने तीन बच्चे नैतिक, रोशन और चेतन को लेकर उमरिया आई थी। यहां वह बच्चों को पेड़ के नीचे खेलने का कहकर खेत पर काम करने लगी। जिस खेत में वह काम कर रही थी, हीरालाल का खेत भी उससे लगा हुआ है। बच्चे खेलते हुए हीरालाल के खेत में मौजूद बोरिंग के पास पहुंच गए। बोरिंग सूखा और खुला हुआ था।करीब साढ़े 11 बजे खेलते-खेलते रोशन बोरिंग में जा गिरा।

बोरिंग में बच्चे के गिरते ही दोनों भाई चिल्लाते हुए मां के पास पहुंचे थे। इसके बाद मां और अन्य लोग बोरिंग के पास पहुंचे और बच्चे को देखने की कोशिश करने लगे। कुछ लोगों ने तत्काल खातेगांव पुलिस को सूचना दी थी। सूचना के बाद विधायक आशीष शर्मा, कन्नौद एसडीओपी शेरसिंह भूरिया, कन्नौद तहसीलदार कुलदीप पाराशर, खातेगांव सीएमओ प्रभुलाल पाटीदार, जनपद सीईओ मनीषा चतुर्वेदी सहित खातेगांव और नेमावर पुलिस बल मौके पर पहुंचा थे।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।