अर्धनग्न अवस्था में पुरुष के शव एवं गंभीर अवस्था में महिला के मिलने से क्षेत्र में फैली सनसनी

Murder
Janmanchnews.com
Share this news...
Anil Upadhyay
अनिल उपाध्याय

देवास। मंगलवार की सुबह इंदौर भोपाल हाईवे से 1 किलोमीटर अंदर सोनकच्छ के पास धतुरिया रोड पर अर्धनग्न अवस्था में एक पुरुष के शव एवं गंभीर अवस्था में महिला के मिलने से आसपास के क्षेत्र में सनसनी फैल गई।

बताया जा रहा है कि कृषक धन्नालाल पिता भागीरथ बागवान मंगलवार की सुबह 6:00 बजे अपने खेत पर गए थे। उसी दौरान सामने स्थित नानूराम पिता भागीरथ त्री के खेत पर अर्धनग्न अवस्था में एक पुरुष का शव एवं गंभीर अवस्था में पड़ी महिला पर धन्नालाल की नजर गई और तुरंत ही धन्नालाल के द्वारा डायल 100 को सूचना दी गई।

इसके बाद डायल 100 द्वारा मौके पर से गंभीर अवस्था में पड़ी महिला को प्राथमिक उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ले जाया गया। तत्पश्चात स्वास्थ्य केंद्र पर उपस्थित डॉक्टर हेमंत गुप्ता एवं ड्रेसर विजय द्वारा महिला का प्राथमिक उपचार कर, गंभीर अवस्था के चलते देवास रेफर किया गया।

वहीं मौके पर परिस्थितियों को देखते हुए प्रतीत हो रहा है कि महिला व पुरुष के सर पर निर्मम तरीके से पत्थर द्वारा वार किए गए हैं। इसके अतिरिक्त सर से लेकर कंधे तक का महिला व पुरुष दोनों का हिस्सा जला हुआ मिला। साथ ही एक मोबाइल फोन, पत्थर, मंगलसूत्र, जली हुई साड़ी, चप्पलें मौके पर पाई गई।

इधर सूचना मिलने पर एसडीओपी कुलवंत सिंह थाना प्रभारी राजेंद्र चतुर्वेदी दल बल के साथ मौके पर पहुंचे। वहीं पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। एफएसएल की टीम मौके पर पहुचकर मुआयना किया। जिसमें टीम द्वारा बताया गया कि पुरुष को जलाया भी गया है और उसको बाद में सर के पिछले हिस्से में पत्तर पट्टकर से मारा गया है।

गंभीर घायल महिला की पहचान समीपस्थ ग्राम सांवेर निवासी कमल ओझा द्वारा की गई उन्होंने बताया वह उनके रिश्तेदार हैं महिला का नाम रजनी पति विशाल व्यास उम्र 30 वर्ष लगभग इंदौर निवासी है महिला की शादी इंदौर निवासी विशाल व्यास से की गई थी।

तथा उसका मायका शिवपुरी में है मृतक की पहचान उसके पिता महेश उपाध्याय उम्र 55 वर्ष लगभग के रूप में हुई जो कि लड़की के पिता है वह शिवपुरी से उसका पति विशाल व्यास एवं उसके दोस्त सनी गुप्ता तथा सूरज ठाकुर उनकी बेटी को शिवपुरी से विदा कराकर कार से इंदौर के लिए निकले थे और तीनों सदिगध घटना के बाद फरार है।

पुलिस द्वारा तीनों की तलाश जारी है। उक्त महिला के भाई डिंपल उपाध्याय पिता महेश उपाध्याय उम्र 30 वर्ष निवासी जैन मंदिर गली शिवपुरी ने उक्त तीनों सदी गद्दों पर भी अपने पिता की हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने मौका या पंचनामा बनाकर धारा 302 307 में प्रकरण दर्ज कर लिया है।

रजनी व्यास का विवाह 8 मार्च को विशाल व्यास निवासी इंदौर से हुआ था जिसमें दो तीन बार ही रजनी व्यास उसके मायके गई थी। करीबन 25 दिन पूर्व विशाल व्यास घर में कुछ आपसी विवाद को लेकर महिला को घर छोड़कर चला गया था। 25  जून को वह वापस शिवपुरी रजनी के घर सुबह 5:00 बजे आया घर में दिनभर रहने के बाद खाना खाने के बाद शिवपुरी से रात 10.00 बजे निकले इसके बाद करीब 12:00 बजे उनके छोटे वाले बेटे ने उसके पिता को फोन लगाया और जानकारी ली तब उसे जानकारी मिली कि वह गुना पहुंच गए हैं। सुबह सिंपल को उसके पिताजी के मोबाइल से फोन आया फोन पर उसे बताया गया कि आपके पिताजी का एक्सीडेंट हो गया उसमें पांच लोग घायल इसमें आपके पिताजी भी हैं आप जल्दी से सोनकच्छ थाने पर पहुंच जाओ उसके छोटे बेटे सिंपल के बयान अनुसार उसके दो दोस्त और उसके जीजा विशाल घर पर आये थे उसके विशाल व्यास द्वारा दहेज को लेकर कई बार विवाद किए गए थे और सुबह उसे खबर मिली। उक्त महिला के तीन भाई हैं सिंपल उपाध्याय डिंपल उपाध्याय एवं सबसे बड़ा भाई कपिल उपाध्याय हैं।

इस मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक अंशुमन सिंह थाना सोनकच्छ में पहुंचे और अनुविभागीय अधिकारी पुलिस एवं थाना प्रभारी सोनकच्छ को प्रकरण में जल्द से जल्द निराकरण करने के निर्देश दिए।

थाना प्रभारी सोनकच्छ आर के चतुर्वेदी का कहना है कि फरियादी द्वारा दी गई। जानकारी अनुसार तीनों संदिगद्ध की तलाश हेतू टीम बनाकर इंदौर भेजी गई है। जल्दी ही तीनों का पता लगा लिया जाएगा। घायल महिला अभी इंदौर के अस्पताल में जीवन-मृत्यु से संघर्ष कर रही है। उधर सांवेर सोनकच्छ में अपने भाई के यहां ठहरी विशाल की मां को थाने बुलाकर पूछताछ की गई।

पुलिस को घायल महिला की सास ने दिया बयान…

घायल महिला की सास कुसुम पति हरिओम व्यास निवासी निपानिया थाना लसूड़िया इंदौर ने पुलिस को बताया कि मेरे बेटे की शादी 8 मार्च 2018 को शिवपूरी निवासी महेश उपाध्यय की बेटी रजनी से हुई थी। शादी के बाद मेरी बहु महा घर पर रही जिसके बाद वह अपने पियर चली गई। दिनांक 24 जून 2018 को में खुद मेरा छोटा बेटा विशाल, उसके दोस्त सनी पिता अशोक गुप्ता व सूरज ठाकुर दोनों निवासी इंदौर और मेरे बड़े बेटे की साली जया शर्मा हमारी बहु को लेने निकले रास्ते में शहर सोनकच्छ में मेरे भाई सुभाष ओझा के यहाँ उतर गई व साली कालापीपल अपने घर उतर गई। जब रात को मैने बेटे को फोन लगाया तो पता चला कि वो रात्रि में 10 बजे वहाँ से निकलेंगे।

जब पुलिस ने सवाल किए की आप की बहू ओर बेटे में क्या कोई अनबन थी तो सास बोली शादी के समय फलदान की एक रसम होती है। जिसे लेकर मेरे बेटे ने उसके ससुर से उस रस्म को अच्छे से करने को बोला था। जहाँ ससुर द्वारा उनकी हैसियत के अनुसार उन्होंने रस्म अदा की जो मेरे बेटे को पसंद नहीं आया। इसी बात को लेकर उन दोनो में शादी में अनबन हो गई थी। और मामला विवाद के बाद निपटा।

इस विषय में लाश की शिखनात करने घायल महिला का भाई डिम्पल उपाध्यय शिवपुरी से सोनकच्छ थाने पहुंचा जहाँ मृतक पिता की लाश की पहचान के बाद उसने पुलिस को बताया कि पिता के साथ आने का कारण यह था कि क्या उसके दामाद में अलग घर लिया है या नहीं क्योंकी दामाद और उसका बड़ा भाई राहुल उनसे दहेज के लिये परेशान करते थे। इन्ही सब बातों को जनाजे समझने के लिए पापा साथ निकले थे कि रास्ते में इन्होंने यह घटना को अंजाम दिया।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।