virendra kumar yadav

जिला पंचायत सदस्य विरेन्द्र यादव को मिली जान से मारने की धमकी

283
Rahul Yadav

राहुल यादव

रायबरेली। रायबरेली राजनीति की उपजाऊ भूमि रही है| यहीं की जनता का प्रतिनिधित्व करते हुए राजनीतिक लम्बरदारों का रसूख गुणा की दर से बढ़ने घटने के उदाहरण भी रायबरेली से ही मिलते रहे हैं। लेकिन पिछले कुछ समय से यही रायबरेली लगातार सार्थक व शुचिता की राजनीति के इतर धमकी और बाहुबल की राजनीति की साक्षी बनी है।

ताजा मामला जिला पंचायत सदस्य विरेन्द्र यादव तथा कांग्रेस से निकल कर भगवा ओढ़ चुके एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह से जुड़ा है। जिला पंचायत सदस्य विरेन्द्र यादव ने बकायदा प्रेस कान्फ्रेंस कर के बताया कि पिछले कुछ समय अज्ञात लोग उनका पीछा करते हैं। साथ ही उनको फोन पर हत्या करने की धमकी दी जा रही है।

इन सबके पीछे जिला पंचायत सदस्य ने एमएलसी दिनेश सिंह व उनके भाई गणेश प्रताप सिंह का हाथ बताया है। विरेन्द्र यादव ने पत्रकार वार्ता में मीडिया कर्मियों से कहा कि “अापराधिक प्रवृत्ति के लोगों को धनबल के प्रयोग के द्वारा मेरी हत्या के लिए लगाया गया है, अगर उन्हें कुछ होता है तो उसके जिम्मेदार एमएलसी दिनेश सिंह व उनके भाई गणेश प्रताप सिंह होंगे।”

इन साजिशों के पीछे के कारणों को गिनाते हुए जिला पंचायत सदस्य ने कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष का व्यवहार सभी सदस्यों के लिए एक समान नहीं है इसीलिए नए अध्यक्ष के लिए प्रतिबद्ध गुट का वह नेतृत्व कर रहे हैं। इसके अलावा वह हरचन्दपुर विधानसभा में विधायक पद के प्रबल दावेदार हैं।

इन कारणों से वह एमएलसी व उनके भाई की आंखों में चुभ रहे हैं। जिला पंचायत सदस्य ने डीजीपी व मुख्यमंत्री को लिखित रूप में अवगत करा दिया है तथा कार्रवाई की मांग की है।