तेज रफ्तार से आ रही बेकाबू कंटेनर ने मारी कांवड़ियों की टोली को टक्कर

घटना के दौरान घायल यात्री
janmanchnews.com
Share this news...
rakesh kumar goswami
राकेश कुमार गोस्वामी

धौलपुर। शहर से गुजरने वाले एनएच तीन पर बने गुलाब बाग़ ओवरब्रिज के ऊपर एक तेज रफ़्तार से जा रहे बेकाबू कंटेनर ने कांवड़ियों की टोली को पीछे से टक्कर मार दी। दर्दनाक हादसे में दो कांवड़ियों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। कंटेनर चालक की रफ़्तार यहीं नहीं थमी आगे जा रही कांवड़ियों की दूसरी टोली को भी टक्कर मार दी।

जिसमे आधा दर्जन कांवड़िये घायल हो गए। घायलों में तीन की नाजुक स्थिति होने पर उच्च उपचार के लिए हायर सेंटर रेफर कर दिया हैं। घटना के बाद मोके पर पहुंची धौलपुर पुलिस ने दोनों मृतक कांवड़ियों के शवों को जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखबा दिया है। वही घायलों का जिला अस्पताल में उपचार किया जा रहा है। वही घटना के बाद कंटेनर चालक फरार हो गया। 

कांवड़िये महिपाल ने जानकरी देते हुए बताया कि भिंड जिले गोहद तहसील निबासी आधा दर्जन सोरों से काबड़ लेने गए थे। बापिस आते समय धौलपुर शहर के गुलाब बाग ओवरब्रिज पर तेज रफ्तार से आगरा की तरफ से आ रहे कंटेनर ने पीछे से टक्कर मार दी। दर्दनाक हादसे में मानपाल पुत्र अनार सिंह 23 बर्ष और केशब पुत्र बचन सिंह की मोके पर ही मौत हो गई।

घटना के बाद कंटेनर चालक तेज रफ़्तार में फरार हो गया। उसके बाद कंटेनर ने वाटरवॉक्स चौराहे से आगे जा रही कांवड़ियों की दूसरी टोली को टक्कर मार दी। जिसमे आधा दर्जन कांवड़िये घायल हो गए। मृतक कांवड़ियों के साथियों घटना की सूचना पुलिस प्रशासन तक पहुंचाई। पुलिस ने मोके पर पहुंचकर घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया।

वही मानपाल और केशब के मृत शरीर को मोर्चरी में रखने के लिए दिया है। कांवड़ियों की दूसरी टोली के घायल रामजीत पुत्र सतीश, देवीलाल पुत्र मुन्नीलाल, भगवान सिंह पुत्र तेज सिंह रवि पुत्र महेश, धर्मेंद्र पुत्र पूरन निवासी ग्वालियर और रामसेवक पुत्र माधव निबासी मुरैना को  में उपचार के लिए भर्ती करा दिया है।

जहां तीन कांवड़ियों की नाजुक स्थिति होने पर उच्च उपचार के लिए हायर सेंटर रैफर कर दिया है। घटना को लेकर पुलिस ने बताया कि मृतक के परिजनों को सूचित कर दिया है। परिजन आने पर पोस्टमार्टम की कार्यवाही कराई जायेगी। पुलिस ने मध्यप्रदेश सीमा पर नाकाबंदी भी कराई। लेकिन कंटेनर चालक फरार हो गया है। जिसको पुलिस शीघ्र गरफ्तार करेगी।

तीसरी घटना हाइवे 11 स्थिति मिडवे होटल के सामने हुई है। जहां मध्यप्रदेश के मुरैना जिला निबासी गयाप्रसाद काबड़ सहित जमीन पर गिर पड़ा। काबड़िये के साथी नाजुक अवस्था में जिला अस्पताल ले गए। जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। कांवड़ियों के साथ हुई घटनाओं से जिला प्रशासन की पोल खोलकर रख दी है।

गौरतलब है, कि दो दिन पूर्व पुलिस अधीक्षक दुष्ट दमन सिंह ने जिले के सभी सीओ और थाना प्रभारीयों को हाइवे और स्टेट हाइवे पर कांवड़ियों को सुगम रस्ता मुहैया कराने के निर्देश दिए थे। लेकिन पुलिस विभाग के किसी भी इंचार्ज ने जिम्मेदारी नहीं निभाई। जिससे यह हादसा घटित हुआ। साबन माह के महीने में का खासा हुजूम देखा जाता है। जिले में यह कोई पहली घटना नहीं है। इससे पूर्व भी दर्जनों कांवड़िये हादसों का शिकार हो चुके है। लेकिन जिला पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर भी पेट्रोलिंग नहीं की जा रही है

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।