नवीन मण्डी सलोन में अतिक्रमण का फैला जाल, दलालों की सक्रियता से व्यापारी परेशान

मण्डी
Encroachment Problem is Mandi Area is making visitor's time miserable..
Share this news...

दलालों के द्वारा मण्डी में व्यापारियों से की जाती है वसूली, दलालों से घिरा रहता है सलोन का नवीन मण्डी स्थल…

Rahul Yadav
राहुल यादव

 

 

 

 

 

सलोन (रायबरेली): नवीन मण्डी स्थल सलोन में बने कृषक सेवा केन्द्र (आई0एफ.एफ.डी.सी कृषक सेवा केन्द्र) सलोन में इन दिनों बडे पैमाने पर दलालों का बोलबाला है। पूरी तरह से दलालों के चंगुल से घिरा हुआ नवीन मण्डी स्थल चर्चा का विषय बना रहता है। नवीन मंण्डी स्थल में लगने वाली दुकानों से लेकर मण्डी में किसानों से अवैध तरीके से धन उगाही की जा रही है। जिसका समय समय पर व्यापारियों एवं किसानों द्वारा विरोध किया जाता है।

लेकिन मण्डी सचिव एवं मण्डी इंस्पेक्टर द्वारा भय दिखा कर किसानों एवं व्यापारियों को चुप करा दिया जाता है। नवीन मण्डी स्थल के अन्दर बने कृषक सेवा केन्द्र के गेट के सामने अतिक्रमण का जाल फैला हुआ है। जहाॅ पर आये दिन कोई न कोई घटना होती ही रहती है। जिसकों दबाने में मण्डी प्रशासन की भूमिका काफी सराहनीय रहती है। मण्डी परिसर के दलालों द्वारा व्यापारियों का शोषण भी किया जाता है। जिसका विरोध करना व्यापारी लोग उचित नहीं समझते है, क्योकि उनकों वहाॅ आकर व्यापार करना है इस लिए वह दलालो का विरोध नहीं कर पाते है।

आरोप है कि मण्डी प्रशासन से सेटिंग-गेटिंग करके यह दलाल मण्डी आने वाले ग्रहकों को भी चूना लगाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ते है। दलालों के दलाली का शिकार हुए ग्राहक अगर मण्डी प्रशासन से इन दलालों की शिकायत करते है तो भी मण्डी प्रशासन द्वारा कोई कार्यावाही न किये जाने पर दलालों के हौसने काफी बुलंद है।

नवीन मण्डी स्थल में दुकान लगाने वाले व्यापारियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि हम लोगो से मण्डी में दुकान लगाने के नाम पर पैसे ऐठे जाते है। पैसे दलालों द्वारा वसूले जाते है। दलाल लोग पैसा वसूल कर मण्डी प्रशासन को दे देते है। पैसा वसूली का काम मण्डी प्रशासन खुद नहीं करता है वह दलालों के माध्यम से वसूली करवाती है। जिसका विरोध करना सभी व्यापारियों को महंगा पड़ जाता है।

शिकायत करने के बावजूद आज तक दलालों पर कोई कार्यवाही नहीं हो पाती है। वहीं जानकारों की माने तो मण्डी सचिव देवता नाथ त्रिपाठी औ मण्डी इस्पेक्टर के द्वारा दलालों को संरक्षण प्रदान किया जाता है।

मण्डी सचिव देवता नाथ त्रिपाठी से जब इस बारे में बातचीत की गई तो उन्हेांने बताया कि दलालों की सक्रियता की जानकारी हमकों है पर इन दलालों को पहचान पाना काफी मुश्किल है। क्योकि दलाल व्यापारियों की तरह फैले हुए है। अब कुछ लोग ज्यादा चर्चित हैं तो वह दलाल कहे जाते है और कुछ लोग छुप के काम करते है तो वह व्यापारी कहे जाते है। वैसे मण्डी में जब से मैं आया हूँ तब से इस ट्रेंड कुछ कमी आई है।
Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।