एन्कांउटर की अंधी दौड़ नें लिया खतरनाक मोड़, यूपी पुलिस नें बदमाश समझ जिम ट्रेनर को ठोका

Share this news...

यूपी पुलिस लगातार एक के बाद एक अपराधी को मुठभेड़ में गिराती जा रही है, योगी नें भरी सभा में अपराधियों को ऊपर पहुँचाने की बात कही थी…

Shabab Khan
शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

नोएडा: ‘अपराधी या तो जेल में नजर आयेगें या ऊपर पहुँचा दिये जाएगें’… यह शब्द सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ के है, यह बात उन्होने भरी जनसभा में मंच से अपने भीषण मे कहा था। योगी के इस बयान के बाद से ही यूपी पुलिस नें अपराधियों को गिरफ़्तार करना छोड़कर गोली मारना शुरु कर दिया था जो अभी बादस्तूर जारी है। इसी कड़ी में यूपी के नोएडा में पुलिस नें जितेन्द्र यादव को गोली मार दी।

उत्तर प्रदेश के नोएडा सेक्टर 122 में शनिवार देर रात पुलिस द्वारा फर्जी एनकांउटर का मामला सामने आया है, जहां 4 पुलिसकर्मियों ने सीएनजी स्टेशन पर कहासुनी के बाद एक जिम ट्रेनर जितेंद्र यादव पर गोली चला दी।

आरोप है कि गोली चलाने वाला ट्रेनी एसआई नशे में धुत था। जितेंद्र को गोली गले में लगी है और रीढ़ की हड्डी में अटक गई है। मामला प्रकाश में आने के बाद एसएसपी लव कुमार ने संज्ञान लिया और मामले की जांच के आदेश दिए।

एसएसपी लव कुमार ने बताया कि तत्काल प्रभाव से चारों पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

एसएसपी लव कुमार ने कहा,’ शुरुआती जांच में यह व्यक्तिगत रंजिश के चलते की गई कार्रवाई लग रही है। इस मामले में हमने जीतेंद्र यादव पर गोली चलाने वाले ट्रेनी सब इंस्पेक्टर को गिरफ्तार कर उसका सर्विस रिवॉल्वर सीज कर दिया है।’

“यह किसी भी तरह से एन्कांउटर का मामला नही है। प्रथम दृष्टया यह व्यक्तिगत रंजिश का मामला समझ में आता है। हम मामले के हर पहलु की गहनता से जांच कर रहे है। हमने आरोपी सब-इंस्पेक्टर को जेल भेज दिया है, इसके अलावा आरोपी के साथ मौजूद तीन और पुलिसकर्मियों के (दो कांस्टेबल एक दरोगा) रोल की जांच की जा रही है, तीनों को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है”: एसएसपी

एसएसपी ने बताया कि घटनास्थल पर पुलिस कर्मियों और गोली से घायल युवक जितेंद्र के बीच बहस हुई थी। गोली लगने के बाद वहां मौजूद पुलिसकर्मी ही घायल को लेकर अस्पताल गए थे।

गौरतलब है कि जब ये घटना हुई तब जितेंद्र अपने चार दोस्तों के साथ बहन की सगाई से लौट रहा था। जितेंद्र सेक्टर 122 के ही पर्थला गांव का रहने वाला है और गांव में जिम चलाता है।

घटना के बाद से ही जीतेंद्र के चारो दोस्त गायब हैं। पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें गायब कर दिया है।

Share this news...