गंजापन

दो महीनें में शर्तिया गंजापन खत्म करने की दवा बेचकर 10.70 करोड़ रूपये कमाने वाले 85 लोग पहुँचे जेल

24

कंपनी के 85 कर्मियों नें 8954 लोगों को फर्जी दवा (प्लेसिबो) बेचा था, दवा बेचते समय दो महीनें में घने बाल आ जानें की गारण्टी दी जाती थी…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

मंगोलिया: ‘गंजेपन का इलाज बस दो महीने में’, ‘तेल आपके खो चुके बाल वापस ले आएगा’ जैसे विज्ञापन बिना बाल वालों को आकर्षित करते हैं। लोगों की जरूरत का फायदा उठाने वाले बहुत से लोग बाजार में मजे ले रहे हैं, लेकिन चीन में ऐसा करने वाले 85 लोगों को जेल की हवा खानी पड़ी है।

स्थानीय मीडिया के मुताबिक चीन के मंगोलिया की ओरडॉस स्थित एक अदालत ने सोमवार को गंजापन दूर करने वाले युआन सांप का तेल बनाने वाली कंपनी के तीन संस्थापकों समेत 85 लोगों के खिलाफ फैसला सुनाया। तीनों संस्थापक को 11 से 13 साल कैद की सजा सुनाई गई।

82 सेल्समैन्स को एक से छह साल की सजा सुनाई गई। एक पीड़ित द्वारा 2016 में मंगोलिया में मामला दर्ज कराने के बाद इस फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ था। अदालत ने इस रोचक मामले का फैसला 254 पन्नों में लिखा है।

संस्थापकों ने अपने कर्मियों को फर्जी डॉक्टर बनकर नुस्खा सुझाने की ट्रेनिंग दे रखी थी। यह डॉक्टर गंजेपन के शिकार लोगों को फोन कर के यह तेल खरीदने को कहते थे। यही नहीं यह उन लोगों को भी टॉनिक पीने की सलाह देते थे जिनकी किडनी कमजोर हो चुकी हैं। यह दावा करते थे कि उनकी दवा परंपरागत है और प्राचीन किताबों में भी इसका जिक्र है।