UP Police

जुए के अड्डे से बरामद लाखों रूपए रख जुआरियों को छोड़ा कल्यानपुर पुलिस नें

6

चौकी से छोड़े गये गिरफ़्तार जुआरी, जानकारी मांगने पर पुलिस दे रही गोलमोल जवाब… 

Ajit Pratap Singh

अजित प्रताप सिंह

 

 

 

 

 

कानपुर: प्रदेश सरकार की लाख कोशिशो के बावजूद भी पुलिस महकमा सुधरने का नाम नही ले रहा है। प्रदेश का लॉ एंड आर्डर राम भरोसे हो चुका है। लॉ एंड आर्डर न सुधरने के पीछे भी कई कारण है जिनमे से सबसे अहम कारण निचले स्तर के अधिकारी है जो उच्च पदस्थ अधिकारियों से मामलों को छुपा कर अपनी जेब भरने में लगे हुए हैं जिससे उच्चाधिकारियों को मामलों की जानकारी नही हो पाती और तमाम मामले उठने से पहले ही दब जाते हैं और कई बार बेगुनाहो को जेल की हवा तक खानी पड़ जाती है।

कुछ ऐसा ही मामला कल्याणपुर थाना क्षेत्र की रावतपुर पुलिस चौकी में भी देखने को मिला जहां पुलिस पर जुआ पकड़ कर जुआरियों को चौकी से छोड़ देनें का आरोप लगा है। क्षेत्रीय लोगो ने बताया कि रावतपुर चौकी की पुलिस ने दिनांक 20 फरवरी 2018 की शाम को करीब 7:30 बजे केशवपुरम के केडीएमए स्कूल से कुछ दूरी पर बनी कॉलोनी में  6-7 जुआरियों समेत लाखों रुपये पकड़ा था।

सूत्रों के अनुसार इस पूरे प्रकरण में क्षेत्र के कुछ तथाकथित पत्रकारों ने पुलिस के साथ मिलकर इस पूरे मामले को अंजाम दिया था। उसके बाद पुलिस ने अपने स्तर से मिलीभगत कर लाखों रुपये तो हजम किये ही और उसके बाद पकडे गए आरोपियों को पुलिस चौकी से बाइज्जत बरी करने के एवज में भी मोटा माल भी खाया।

क्षेत्र के एक दुकानदार ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यहाँ पर काफी दिनों से मोहल्ले वालों को एक कॉलोनी में रहने वालों पर शक था। दुकानदार ने यह भी बताया की उस कॉलोनी में जुआ के अतिरिक्त कुछ लड़कियों और तमाम लोगों का भी आना-जाना बना रहता था। उक्त मामले पर पुलिस झूठ बोल रही है या फिर क्षेत्रीय जनता पुलिस पर गलत आरोप लगा रही ये तो जांच का विषय है लेकिन ज्यादातर मामलों में गलत कौन रहता है ये किसी से छुपा नही है।

उक्त मामले की जानकारी के लिए रावतपुर चौकी इंचार्ज से बात की गई तो उन्होंने जानकारी ना देते हुए अपना फोन कल्याणपुर इंस्पेक्टर को थमा कर अपना पल्ला झाड़ लिया।

इसके बाद रावतपुर पुलिस चौकी के एक उप निरीक्षक शिव कुमार शर्मा से बात की गई तो उन्होंने ऐसे किसी भी मामले से अनभिज्ञता जाहिर की जबकि सूत्रों की माने तो उक्त मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी उन्होंने ही की थी। पूरे मामले की जानकारी देते हुए कल्याणपुर क्षेत्राधिकारी से बात की तो उन्होंने मामले की जाँच कर कार्रवाई करने की बात कही है।