गावां में जंगल राज: अवैध कार्य में लिप्त लोगों की गुंडागर्दी चरम पर, दैनिक जागरण पत्रकार पर किया जानलेवा हमला

Journalist
Janmanchnews.com
Share this news...

पहले वन विभाग की टीम को पीटा, अब खबर संकलन करने गए दैनिक जागरण पत्रकार पर किया जानलेवा हमला…

Raghunandan Mehta
रघुनंदन कुमार मेहता
गिरिडीह। इसे अवैध धंधेबाजों का बुलंद हौसला कहें या पदाधिकारियों के मिलीभगत का नतीजा चाहे जो भी हो परंतु गावां में माफिया ऐसा माहौल बना रहे हैं कि मानो गांवों में जंगलराज कायम हो गया हो।

यहां अवैध कार्यों में लिप्त लोग अब खुद को ही सरकार समझने लगे हैं, उन्हें कायदे कानून का कोई भय नहीं है। ऐसा लगता है कि गावां में माफियाओं की सरकार चलती है। तभी तो गावां में अवैध कार्यों में लिप्त लोगों की गुंडागर्दी चरम पर है। स्थिति यह है कि इन माफियाओं पर किसी का कोई वश नहीं है।

पहले वन विभाग के कर्मी को पीटा, अब पत्रकार पर जानलेवा हमला…

अवैध धंधेबाजों के आतंक का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ये लोग अब इनके धंधे या यूं कहें कि इनके लूट के साम्राज्य पर उंगली उठाने वालों को दुनियां से उठा देने का प्रयास करते हैं। जिसका जीता-जागता उदाहरण  बीते 27 अप्रैल को पत्थर के अवैध धंधेबाजों द्वारा खदान डोजरिंग कर लौट रही वन विभाग की टीम पर जानलेवा हमला करना और 02 जून शनिवार को मनरेगा योजना से खुदाई की जा रही।

तालाब में जेसीबी चलने की सूचना पर मौके पर पहुंचे दैनिक जागरण के पत्रकार संदीप बर्णवाल पर किया गया हमला शामिल है। दोनों ही घटना में हमलावर जान लेने को उतारू थे। वन कर्मियों ने जहां रात के अंधेरे का फायदा उठा जंगलों में छुप कर अपनी जान बचाई थी। वहीं शनिवार को मनरेगा माफियाओं के कातिलाना हमले में पत्रकार को वहां के कुछ ग्रामीणों ने बचाया। अन्यथा कुछ भी अनहोनी हो सकती थी।

क्या है मामला…

ताजा मामला पत्रकार पर जानलेवा हमले की है। इस घटना के संबंध में बताया जाता है कि शनिवार की दोपहर लगभग तीन बजे सेरुआ पंचायत के उपमुखिया पति उमेश यादव ने दैनिक जागरण के पत्रकार को फोन पर सेरुआ में खजिया में निर्माणाधीन मनरेगा तालाब में मजदूरों के बजाए जेसीबी के द्वारा काम किये जाने की जानकारी दी।

सूचना की पुष्टि के लिए जब पत्रकार संदीप बर्णवाल वहां पहुंचे तो उक्त मनरेगा योजना में बिचौलिया की भूमिका निभा रहे सेरुआ निवासी विक्की सिंह पिता स्व. जनार्दन सिंह और उसके चाचा अवध सिंह ने पत्रकार संदीप पर कातिलाना हमला कर दिया। बिक्की सिंह ने जान मारने की नीयत से गर्दन दबा दिया व चेहरे पर मुक्का चला दिया। वहीं अवध सिंह ने आकर लाठी चलाने लगा। इस हमला के पत्रकार संदीप बर्णवाल को चेहरे और गर्दन पर गंभीर चोट आई है।

वहीं पत्रकार की बाइक भी क्षतिग्रस्त हो गया है। इतना ही नही हमलावरों ने पत्रकार के पैकेट में रखा नगदी भी निकाल लिया। इस दौरान हमलावर बार-बार पत्रकार को जान से मारने की बात कह रहा था। इसी बीच हो हल्ला सुनकर राम प्रसाद यादव व उमेश यादव मौके पर पहुंच कर बीच-बचाव किया व पत्रकार को हमलावरों के चंगुल से मुक्त कराया।

पत्रकार ने थाने में की लिखित शिकायत…

पत्रकार संदीप बर्णवाल ने घटना की लिखित शिकायत गावां थाना में की है। साथ ही घटना की जानकारी पत्रकार संगठनों को भी दिया गया है।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।