supreme court of india

बालिका आश्रय गृह काण्ड: SC का बड़ा फैसला, अब इस केस से जुड़े सभी 17 मामलों को CBI करेगी जांच

2

नई दिल्ली। एक बड़ी खबर सामने आई है। बालिका आश्रय गृह काण्ड मामले में एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट के तरफ से नीतीश सरकार को एक बड़ा झटका लगा है। 

इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने पहले भी नीतीश सरकार को कई बार फटकार लगाई है। अब इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने अब इस केस से जुड़े सभी 17 मामलों को CBI को सौंपा है। इसके आलावा कोर्ट ने नीतीश सरकार की उस मांग को भी ठुकरा दिया जिसमें उन्होंने जवाब दाखिल करने लिए और समय की मांग की थी।

इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि अब CBI बाकी मामलों की जांच के लिए तैयार है और शेल्टर होम के 17 मामलो की जांच CBI ही करेगी।

साथ कोर्ट ने यह भी स्पष्ट किया कि इस मामले की जांच कर रहे CBI अफसरों का ट्रांसफ़र नहीं होगा और कोर्ट ने नीतीश सरकार को इस  केस में जांच करने वाली सीबीआई टीम को तमाम सहायता मुहैया कराने का निर्देश जारी किया।

बता दें, मंगलवार को कोर्ट ने यह सवाल किया था कि ‘आपने वक्त पर एफआईआर क्यों नहीं दर्ज की? जांच कैसे कर रहे हैं? देरी से एफआईआर दर्ज करने का मतलब क्या रह जाता है? रिपोर्ट कहती है कि शेल्टर होम में बच्चों के साथ कुकर्म हुआ लेकिन पुलिस ने धारा-377 के तहत मुकदमा दर्ज क्यों नहीं किया? ये बड़ा अमानवीय है। बेहद शर्मनाक है।’

कोर्ट ने पूछा कि ‘आपने एफआईआर में हल्की धाराएं जोड़ी हैं। आईपीसी की धारा-377 के तहत भी मुकदमा होना चाहिए। 110 में से 17 शेल्टर होम में रेप की घटनाएं हुईं। क्या सरकार की नजर में वो देश के बच्चे नहीं?’