दुष्कर्मी हत्यारे को फांसी देनें की मांग हुई तेज, गर्ल्स कॉलेज की छात्राओं ने दिया ज्ञापन

Share this news...
Anil Upadhyay
अनिल उपाध्याय

देवास। मंदसौर में सात साल की बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म के आरोपी को फांसी की सजा देने की मांग को लेकर माली समाज देवास मे सड़क पर उतर आया। देवास में माली समाज ने एकत्रित होकर मंदसौर में बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म की आलोचना करते हुए गिरफ्तार हुए आरोपी को फास्ट ट्रैक अदालत में शीघ्र ही फांसी दी जाने की मांग को लेकर शहर में जुलूस निकाला। हाथों में तख्ती लिए हुए सभी समाज के लोग आरोपी को शीघ्र से शीघ्र फांसी की सजा देने की मांग कर रहे थे।

उन्होंने बताया कि मंदसौर पुलिस ने शीघ्रता दिखाते हुए आरोपी को पकड़ लिया है। अब फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से मुकदमा चलाकर जल्द से जल्द सिर्फ फांसी की सजा से दंडित करें। माली समाज यह भी मांग करता है कि इस तरह मासूम बालिकाओं के साथ हो रही बलात्कार एवं अन्य घटनाओं की दिन पर दिन वृद्धि होती जा रही है, अतः मासूम बालिकाओं को को सुरक्षा के लिए दिशा निर्देश दिए जाए तथा सख्त से सख्त कानून बनाए जाएं जिससे कि मासूमों की रक्षा की जा सके।

उन्होंने महामहिम राज्यपाल एवं माननीय मुख्यमंत्री महोदय के नाम ज्ञापन देकर मांग की है कि शीघ्र से शीघ्र आरोपी को फांसी की सजा से दंडित करे। इसी प्रकार देवास के गर्ल्स डिग्री कॉलेज की ABVP की छात्राओं ने आज मंदसौर में हुए 7 वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म की घटना को लेकर मुख्यमंत्री के नाम प्रिंसिपल को ज्ञापन दिया।

छात्राओ ने ज्ञापन के माध्यम से मामा से भांजियों की सुरक्षा की मांग को लेकर ज्ञापन दिया। आज GDC में ABVP की छात्राये एकत्रित हुए। छात्राओ ने नारेबाजी भी की। छात्राओं का कहना था कि मध्यप्रदेश में दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ रही है। महिला सशक्तिकरण और महिला सुरक्षा को लेकर और सुधार होने की जरूरत है। दुष्कर्म जैसी घटनाओं पर जैसी कार्रवाई होना चाहिए नही हो पा रही है।

ABVP की छात्रनेता हिमांशी बांगर ने कहा कि अखबार की स्याही नही सूखती और नई घटना हो जाती है। प्रधानमंत्री जी ने भी महिला सुरक्षा को लेकर कदम उठाए है, किन्तु जैसे परिणाम आना चाहिए वैसे अभी नही आ रहे है। उन्होंने मंदसौर दुष्कर्मकांड के आरोपी को फांसी देने की मांग की है। वहीं कांग्रेस ने भी ज्ञापन देकर मामले की निंदा करते हुए सरकार पर आरोप लगाए।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।