डॉक्टर के घर डकैतों का तांडव, 25 लाख से ज्यादा की लूट, विरोध में हड़ताल पर गए सभी प्राइवेट डॉक्टर

डॉक्टर्स
Janmanchnews.com
Share this news...
Rajnish
रजनीश
गोपालगंज। जिले में डकैतों ने बंदूक के दम डॉक्टर का हाथ पैर बांधकर 25 लाख से ज्यादा की संपत्ति लूट ली। घटना बुधवार देर रात की है। घटना के विरोध में शहर के सभी प्राइवेट डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

वहीं बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे भी पीड़ित डॉक्टर से मिलने पहुंचे और जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी की बात कही। घटना नगर थाना के थावे रोड की है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक बदमाश सीढ़ी के रास्ते घर में घुसे और सबसे पहले गार्ड को बंधक बनाया। डकैतों ने डॉक्टर आलोक कुमार सुमन और उनके भाई अमन कुमार समेत घर के सभी लोगों को बंदूक के दम पर बंधक बनाया और उनके साथ मारपीट की। बदमाशों ने परिवार के सभी लोगों को एक कमरे में बंद कर दिया।

इसके बाद करीब 3 घंटे तक बदमाश घर में लूटपाट करते रहे। पीड़ित डॉक्टर आलोक कुमार के मुताबिक डकैतों ने लाइसेंसी बंदूक,  6 लाख रुपए कैश और 20 लाख रुपए से ज्यादा की ज्वेलरी लेकर भाग गए। करीब 10 की संख्या में डकैत थे। सुबह जब डॉक्टर ने मुंह पर लगी पट्टी हटाकर शोर मचाना शुरु किया तब लोगों को घटना का जानकारी लगी। घर में आसपास के लोग जमा हो गए।

घटना की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही नगर थाना पुलिस के अलावा मांझा पुलिस, थावे, जादोपुर सहित कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की छानबीन शुरू कर दी है। नगर थानाध्यक्ष संजय कुमार ने कहा कि वरीय पदाधिकारियो को घटना को सूचना दे दी गई है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है।

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे को जैसे ही घटना की जानकारी मिली वे पीड़ित डॉक्टर आलोक कुमार से मिलने पहुंचे। उन्होंने आश्वावासन दिया कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसी भी हालत में दोषियों को नहीं बख्शा जाएगा। डॉक्टरों ने स्वास्थ्य मंत्री से डॉक्टरों की सुरक्षा को लेकर शिकायत की और कहा कि ऐसी घटना नहीं हो इसके लिए आरोपियों को गिरफ्तार कर कड़ी सजा दी जाए।

शहर के प्राइवेट डॉक्टरों को जैसे ही घटना की जानकारी मिली वे तुरंत आलोक कुमार से मिलने पहुंचे। प्राइवेट डॉक्टरों ने घटना के विरोध में हड़ताल पर जाने का फैसला किया है। प्राइवेट डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने से शहर स्वास्थ्य सेवाओं पर असर पड़ा रहा है। लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा दिक्कत उन मरीजों को हो रही है जो प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती हैं।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।