सीता

गुजरात बोर्ड नें दी नई जानकारी “राम ने किया था सीता को अगवा”

106

गुजरात राज्य स्कूल पाठ्यपुस्तक बोर्ड (जीएसएसटीबी) ने इसे अनुवाद की गलती बताया है…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

 

अहमदाबाद: भारत ही नहीं दुनियाभर के लोग जानते हैं कि सीता किसकी पत्नी थीं और उनका अपहरण किसने किया था? मगर यह बात गुजरात के शिक्षा विभाग को नहीं पता है। दरअसल गुजरात की 12वीं की किताब में लिखा है कि सीता का अपहरण भगवान राम ने किया था।

गुजरात में 12वीं के बच्चों को दी जा रही गलत जानकारी
कक्षा 12 की संस्कृत विषय के अंग्रेजी संस्करण में यह बड़ी गलती सामने आई है। आलोचनाओं के बाद गुजरात राज्य स्कूल पाठ्यपुस्तक बोर्ड (जीएसएसटीबी) ने इसे अनुवाद की गलती बताते हुए जांच का आदेश दे दिया है। इसमें लिखे पैराग्राफ के मुताबिक, कवि ने अपनी मौलिक सोच के आधार पर राम के चरित्र का बेहद खूबसूरती से बखान किया है।

बोर्ड ने अनुवादक और प्रूफ-रीडर को ठहराया जिम्मेदार

लक्ष्मण के उस संदेश को दिल छू लेने वाले अंदाज में पेश किया गया है, जिसमें वह राम को राम द्वारा सीता के अपहरण के बारे में बताते हैं। यह पाठ संस्कृत के महान कवि कालीदास की रचना ‘रघुवंशनम’ पर आधारित है। यह गलती सिर्फ अंग्रेजी माध्यम की किताबों में है। वहीं गुजराती किताबों में यह गलती नहीं है।

जीएसएसटीबी, गांधीनगर के कार्यकारी अध्यक्ष नीतिन पेथाणी ने दावा किया कि ‘त्याग’ शब्द का गलत अनुवाद किया गया है। यह गलती अनुवादक और प्रूफ-रीडर की है। उन्होंने कहा कि हमने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं। दोषी पाए जाने पर अनुवाद और प्रूफ-रीडिंग की जिम्मेदारी लेने वाले ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा। हम स्कूल शिक्षकों को इस गलती की जानकारी दे देंगे ताकि वे पढ़ाने के दौरान उसी सही कर लें।