प्राइवेट स्कूलों की हड़ताल, सुरक्षा सम्बन्धी नियमों की सख्ती के विरोध

School
Janmanchnews.com
Share this news...
Sarvesh Tyagi
सर्वेश त्यागी

ग्वालियर। इंदौर डीपीएस हादसे के बाद जागे प्रशासन ने प्रदेशभर में स्कूल प्रबधनों की नींद उड़ा दी है। स्कूली बच्चों के सुरक्षा मुददे पर सख्ती का डंडा अब स्कूलों के बर्दाश्त से बाहर है। इसी वजह से ग्वालियर और इंदौर के सीबीएसई स्कूल मंगलवार को एक दिन की हड़ताल पर रहने का फैसला किया है।

इस दौरान न तो स्कूलों में बच्चे पहंुचे और न ही कक्षाएं लगीं। स्कूल संचालकों का कहना है कि हर घटना-दुर्घटना में स्कूल संचालक, प्रिंसिपल और शिक्षक को दोषी मानने का माहौल देश में बन चुका है जिसके विरोध में यह हड़ताल है।

डीपीएस स्कूल इंदौर में दर्दनाक सड़क हादसे के बाद प्रदेशभर में परिवहन, पुलिस और ट्रैफिक पुलिस सभी विभाग अलर्ट हो गए हैं। स्कूलों के लिए तय सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन का सख्ती से पालन शुुर कराया जा रहा है। वहीं कलेक्टर ने भी स्कूली बच्चों की सुरक्षा को लेकर आदेश जारी कर दिए हैं।

इस आदेश में शामिल बिंदुओं का पालन नहीं करने वालों पर कार्रवाई के आदेश भी अफसरों को दिए गए हैं वहीं इंदौर हादसे के बाद से सभी विभाग अपनी अपनी जिम्मेदारी के तहत अभियान चला रहे हैं। वहीं मप्र प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने भी सभी निजी स्कूलों को हड़ताल में शामिल होने का दावा किया है।

एसोसिएशन के अनुसार आज के दौर में हर प्राचार्य, शिक्षक और स्कूल संचालक सहमा हुआ है नए नए नियमों की आड़ में प्रशासन दवारा परेशान किया जाता है। इस तरह का माहौल रहा तो शिक्षक स्कूलों में काम नहीं कर पाएंगे।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।