Congress Fast photo viral

फास्‍ट के पहले कैसे वायरल हुई ब्रेकफास्‍ट की फोटो, FB ने बिगाड़ा कांग्रेस का खेल

70

नई दिल्ली। दिल्‍ली के राजघाट पर दलित अत्‍याचार मुद्दे पर उपवास के जरिए केंद्र सरकार को घेरने गई कांग्रेस अपने ही चले दांव पर चित हो गई। सुबह से उपवास को लेकर कांग्रसियों में जो जोश था वह महज एक फोटो के वायरल होने से अचानक से रफू चक्‍कर हो गया। कांग्रेसियों की जीत के लिए चला गया दांव उलटा पड़ गया। भाजपा ने कांग्रेस को उसी के दांव से राजघाट के दंगल में चित कर दिया। आखिर क्‍या है फोटो का खेल। फोटो किसने लिया, कैसे वायरल हुई। भाजपा के हाथ कैसे लगी फोटो। ये तमाम सवाल जिज्ञासा के केंद्र में आ गए।

दलित पर अत्‍याचार मुद्दे पर एक बार फ‍िर कांग्रेस में उपवास करके कांग्रेस कांग्रेसी का अति उत्‍साह ही उनके गले की हड्डी बन गया। उन्‍हें क्‍या मालूम था कि यह छोटा भटूरा उपवास के पहले अपच हो जाएगा। आइए जानते हैं, इसका पूरा सच।

भारी पड़ा समर्थक का अतिउत्‍साह

1- दरअसल, उपवास पर जाने से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और दिल्ली सरकार में रहे पूर्व मंत्रियों को एक साथ खाने की मेज पर देख एक समर्थक ने उत्साह में उनकी फोटो खींची और उसे एक ग्रुप पर डाल दिया। लेकिन यह उसे भी नहीं पता चला होगा कि नाश्ते का निवाला कांग्रेस के लिए गले की हड्डी बन जाएगा।

2- इसके बाद इस समर्थक ने वाहवाही के लिए फोटो खींचकर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के एक ग्रुप में डाल दिया। उत्‍साह का सिलसिला यहीं नहीं थमा। कुछ अति उत्‍साही कार्यकर्ताओं ने उसे फेसबुक पर लगाया। फेसबुक के जरिए ही अंतत: यह फोटो भाजपा प्रवक्ता हरीश खुराना के पास पहुंच गई।

3- इसके बाद उन्होंने ट्वीट किया वाह रे हमारे कांग्रेस के नेता सबको उपवास के लिए राजघाट पर बुलाया और खुद एक रेस्त्रां में छोले भटूरे के मजे ले रहो हो। सही बेवकूफ बनाते हो। हरीश खुराना के ट्वीट करते ही यह ट्वीट वायरल हो गया। जिसके बाद कांग्रेस के नेता इस पर सफाई देते हुए फिर रहे थे।

बता दें कि इस माह दो तारीख को दलितों के भारत बंद के बाद से कांग्रेस केंद्र सरकार और भाजपा पर दबाव बना रही थी, लेकिन दिल्ली कांग्रेस के कुछ नेताओं के छोले-भटूरे खाकर राजघाट पर उपवास में पहुंचने से पूरी पार्टी बैकफुट आ गई है।

इसमें समस्या सबसे बड़ी यह आ गई कि जब तक कांग्रेसी मुद्दे को डैमेज कंट्रोल करते तब तक सोशल मीडिया पर राहुल गांधी के उपवास का उपहास मनना शुरू हो गया था। वहीं, भाजपा इससे गदगद है और उसने दलितों व अन्य मुद्दे पर पलटवार शुरू कर दिया है। भाजपा सांसद 12 अप्रैल को उपवास भी रखेंगे।

मोदी के मंत्री का तंज- फुल टंकी उपवास- न भूख न प्यास

वहीं, भारतीय जनता पार्टी के केंद्र स्तर के नेताओं के साथ केंद्रीय मंत्रियों ने भी कांग्रेस के उपवास का उपहास उड़ाया है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि  ‘खाया पेट भर भटूरा-छोला फिर पहुंच गए करने उपवास बिन बदले चोला’। छोला-भटूरा खाकर उपवास किया जा रहा है। जो गरीबों और दलितों के साथ उपहास है। 70 सालों तक बैंको से दूर रखने वाली कांग्रेस असल मायने में दलित विरोधी है।

By Ramesh Mishra