jaap strike

नहीं दिखा जाप के बिहार बंद का असर

20
Sarfaraz Alam

मोहम्मद सरफ़राज़ आलम

सहरसा। बिहार को विशेष राज्य की दर्जा देने की मांग को लेकर जाप के राष्ट्रीय संरक्षक व सांसद पप्पू यादव के द्वारा बिहार बंद का किये गए आह्वान का सहरसा में नही दिखा असर। शहर में कुछ दुकानों को छोड़कर लगभग सभी दुकानें खुली हुई नजर आई। शहर के पूरब बाजार, हटियागाछी, रिफ्यूजी कॉलिनी, महावीर चौक, प्रशान्त रोड, चांदनी चौक की सभी दुकानें पूर्णतः खुली हुई नजर आई। सिर्फ कार्यकर्त्ताओं के द्वारा बंदी के नाम पर खानापूर्ति किया गया।

jaap strik 2

janmanchnews

कुछ कार्यकर्त्ताओं के मुस्तेद नही रहने के कारण पार्टी के द्वारा आहूत बंद सफल नहीं हो पाया। इस संबंध में जब पार्टी के वरीय कार्यकर्त्ता से उनके मोबाइल पर हमारे संवाददाता के द्वारा जब संपर्क साधा गया तो उन्होंने कॉल तक उठाना मुनासिब नही समझा। आपको बता दें कि विशेष राज्य के दर्जे के लिए बिहार में लगातार सियासत जारी है। विशेष राज्य के दर्जे पर सियासत में कोई भी राजनीतिक पार्टी सियासत करने में पीछे नहीं हैं। आज इसी मुद्दे पर जाप के द्वारा बिहार बंद किया गया है।

ये बिहार बंद जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक और मधेपुरा सांसद पप्पू यादव ने बुलाया है। इससे पहले जेडीयू ने भी विशेष राज्य के दर्जे के लिए बिहार बंद का ऐलान किया था। उस वक्त आरजेडी ने भी इसे सपोर्ट किया था। आज पप्पू यादव ने भी बिहार बंद का ऐलान किया है। हालांकि चुनाव के मद्दे नजर पप्पू यादव इन दिनों काफी सक्रिय दिख रहे है। उन्होंने विशेष राज्य के दर्जे के लिए हस्ताक्षर अभियान भी शुरु किया था।बंदी में जिला प्रवक्ता शैलेन्द्र शेखर, जिलाध्यक्ष अब्दुल सलाम, प्रदेश नेता कमलेश्वरी यादव, शशि यादव, नूर आलम, किसान सेल के अध्यक्ष अरविंद यादव सहित कई कार्यकर्ता शामिल थें।