Janmanch News

जनमंच असर: नाबालिग से दुष्कर्म करके जिंदा जलाने वाला आरोपी हुआ गिरफ़्तार, एसओ भी होगें निलंबित

126

दुर्गागंज काकोरी थानें के प्रभारी पर मृतका की मॉ नें लगाया था गंभीर आरोप…

–संपादक (उत्तरप्रदेश)

लखनऊ: जनमंच द्वारा पीड़िता की खबर चलाये जानें के 24 घण्टों के अंदर राज्य सरकार की नींद टूटी और आरोपी को गिरफ़्तार कर 376 (बलात्कार), 302 (हत्या), 323 (आग लगाकर प्रतांडित करना) सहित विभिन्न धाराओं के तहत निरुद्ध कर जेल भेज दिया गया।

इसके अतिरिक्त शासन के आदेश पर ACM 1 ने SSP लखनऊ के साथ 72 घंटों में जांच करके थानाध्यक्ष काकोरी को निलंबित करने, बच्ची की माँ को 4 लाख रूपए का मुआवज़ा और डूडा आवास आवंटित करने के निर्देश भी दिया है।

इस ख़बर का हुआ असर…

नाबालिग लड़की से दुष्कर्म के बाद उसे जिन्दा जलाया, अब न्याय के लिए भटक रही है मां

ज्ञात हो कि पिछले वर्ष 6 नवम्बर को लखनऊ के थाना काकोरी अन्तर्गत बेगरिया बरावन कला की रहने वाली पेशे से मजदूर रामदेवी पत्नी परमेश्वर की दस वर्षीय नाबालिग बेटी के साथ पड़ोस के अनुज नें घर में पीड़िता को अकेले पाकर पहले उसके साथ दुष्कर्म किया फिर उस पर मिट्टी का तेल डालकर आग दिया। आसपास के लोगों नें किसी तरह आग बुझाकर पीड़िता को अस्पताल पहुँचाया जहाँ 1 दिसम्बर को बच्ची की मौत हो गयी थी।

लेकिन मौत से पहले पीड़िता नें आपबीती सुनाई थी जिसे रिकार्ड कर लिया गया था। वीडियो बयान देखनें के बाद भी काकोरी थाना प्रभारी नें नामजद आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नही थी, हालांकि मामले में ‘रचना फ़ॉऊनडेशन’ नाम की एनजीओ के दखल के बाद प्राथमिकी तो दर्ज हो गयी थी लेकिन इतनें गंभीर मामले में भी गिरफ़्तारी नही की गई थी।

जनमंच न्यूज़ पर इस मामले को प्रमुखता से उठानें के बाद आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं नें रचना फाउंडेशन के सदस्यों के साथ लखनऊ में धरना-प्रदर्शन किया गया, जिसके बाद शासन के आदेश पर ACM(1) और लखनऊ एसएसपी नें पीड़िता की मॉ को आरोपी के गिरफ़्तार किये जाने की सूचना दी व मुआवज़े और डूडा आवास दिये जानें की घोषणा की तथा जॉचकर काकोरी थाना प्रभारी को निलंबित किये जाने का आश्वासन भी दिया।