जनमंच रियलिटी चेक: सीएम की पंचक्रोशी यात्रा‌ आज, क्या‌ है वाराणसी प्रशासन की तैयारियां?

पंचक्रोशी यात्रा
UP CM's two days Kashi visit starts today, he will take part in Pachkroshi Yatra too. Varanasi Administration were informed about CM itinerary 3 weeks earlier yet no preparation were made before Friday when we found whole administrative machinery was preparing for CM Visit, we tried to find out why the preparation had not taken care of earlier but no officer was seen free to answer our questions. Find out in pictures what administration had done before 24 hours of CM arrival...
Share this news...

सीएम ने 3 हफ्ते पहले ही 9 जून को अपनी प्रस्तावित पंचक्रोशी यात्रा के बारे में वाराणसी प्रशासन को अवगत करा दिया था लेकिन प्रशासन सोता रहा, सीएम के काशी आने से मात्र एक दिन पहले शुक्रवार को हमने पूरे प्रशासनिक अमले को मुख्यमंत्री के दो दिवसीय दौरे की तैयारियों में जमीन-आसमान एक करते पाया।

जानिए क्या पाया हमने अपने रियलिटी चेक में…

Shabab Khan
शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

 

वाराणसी: सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को तीन हफ्ते पहले पंचक्रोशी मार्ग और तीर्थयात्रियों की सुविधाओं का ध्यान रखने का निर्देश दिया था। इन अधिकारियों ने तब कुछ नहीं किया लेकिन मुख्यमंत्री के आने के 24 घंटे पहले एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है।

मणिकर्णिका घाट से कपिलधारा तक तीर्थयात्रा मार्ग की अच्छी तस्वीर सीएम के सामने रखने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने दिन-रात एक कर दी है। अधिकारियों की तेजी देखकर तीर्थयात्री और ग्रामीण खुश हैं। तीर्थयात्रियों का कहना है कि अब यात्रा समाप्ति की ओर है तब व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया जा रहा है।

मणिकर्णिका तीर्थ पर भी शुक्रवार सुबह से ही साफ-सफाई शुरू हो गई थी। पंचक्रोशी यात्रा के दौरान पड़ने वाले पड़ावों की धर्मशालाओं से लेकर हर जगह रंग-रोगन किया जा रहा है। कंदवा से रामेश्वर तक धर्मशालाओं में अब कार्पेट बिछाने के साथ ही पंखे भी लगा दिए गए हैं।

सड़कों के किनारे नालियों में जमे सिल्ट को साफ करवा कर चूना और ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव कर दिया गया है। अतिक्रमण हटाने और बैरिकेडिंग कराने के लिए जिला प्रशासन से लेकर नगर निगम और वीडीए ने ताकत झोंक दी है। चितईपुर चौराहे से कंदवा, भीमचंडी, शिवपुर और कपिलधारा वाले मार्गों पर हैलोजन लगाने का काम हो रहा है।

रामेश्वर में सीएम के रात में पहुंचने की संभावना को देखते हुए यहां पर मंदिर तक जाने वाली सड़कों पर साफ-सफाई के लिए अतिरिक्त इंतजाम किए गए हैं। बिजली के खंभे रातोंरात बदल दिए। जहां-जहां लाइट नहीं थी, वहां भी बिजली के तार और खंभे लगा दिए गए हैं। 20 दिन पहले पंचक्रोशी पड़ाव पर जाने वाले यात्री पानी साथ लेकर जा रहे थे लेकिन अब जलकल विभाग के टैंकर यहां पहुंच चुके हैं।

इसके पहले जो पानी के टैंकर लगे थे, उनकी हालत खस्ता थी, मुख्यमंत्री के आने के 24 घंटे पहले नए टैंकर हर पड़ाव पर नजर आने लगे थे। इसी तरह सड़कों पर पड़ी गिट्टियों के कारण यात्रियों के पैर चोटिल हो रहे थे। आनन-फानन में परिक्रमा मार्ग की सड़कों के गड्ढे गायब हो गए और सभी सड़कें दुरुस्त हो चुकी हैं।

चितईपुर चौराहे से कंदवा तक पड़ने वाले गढ्ढों को पैचिंग करके भरा गया है। भीमचंडी मार्ग पर सड़कों की पैचिंग के साथ ही सफाई भी की जा रही है। निरीक्षण के दौरान मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने धर्मशाला नंबर दो को बंद करने का निर्देश दिया। तीन दिन पहले इसी धर्मशाला की बीम टूटकर गिर गई थी। अभी तक बीम लगाने का काम नहीं हुआ है।

देवरा से लेकर भैरव तालाब तक पंचक्रोशी मार्ग की सफाई के लिए 117 सफाई कर्मी लगाए गए हैं। सरायमोहाना में जौ विनायक मंदिर से गंगा नदी तक पहुंचने के लिए जिला पंचायत द्वारा अस्थायी सीढ़ी का निर्माण कराया जा रहा है।

अब 24 घंटे पहले की गई तमाम तैयारियों का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर क्या प्रभाव पड़ेगा यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।