जिन्नाा

अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी में जिन्ना की फोटो–  बीजेपी सांसद नें वीसी से माँगा स्पष्टिकरण

62

सांसद नें एएमयू के वाईस चांसलर से एक पत्र के माध्यम से पूछा- देश बांटने वाले की फोटो यूनिवर्सिटी में क्यों ?

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

 

अलीगढ़: एएमयू यानि अक्सर विवादो में घिरी रहने वालीअलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्र संघ कार्यालय में लगी पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर माहौल फिर गरमाने लगा है। भाजपा सांसद सतीश गौतम ने सोमवार को एएमयू वीसी को पत्र लिखकर जिन्ना की तस्वीर के बारे में जानकारी मांगी है। कहा गया कि यदि जिन्ना की तस्वीर लगी है तो इसके कारण बताए जाए। किस वजह से देश का बंटवारा कराने वाले की तस्वीर एएमयू में लगाई गई है।

सोमवार को सांसद ने वीसी प्रो. तारिक मंसूर को पत्र लिखकर पूछा कि सूत्रों से पता चला है कि जिन्ना की तस्वीर एएमयू में लगी हुई है। तस्वीर एएमयू के किस विभाग और कहां लगी हुई है, उन्हें इस बारे में जानकारी नहीं हैं। उन्हें अवगत कराया जाए कि यदि तस्वीर लगी हुई है तो किन कारणों से लगी है। इसे एएमयू में लगाने की क्या मजबूरी है? क्योंकि पूरा विश्व जानता है कि जिन्ना भारत और पाकिस्तान बंटवारे के मुख्य सूत्रधार थे। वर्तमान में भी पाकिस्तान गैर जरूरी हरकतें कर रहा है। ऐसे में जिन्ना की तस्वीर एएमयू में लगाना कितना तार्किक है।

मो० जिन्ना हैं छात्र संघ के आजीवन सदस्य: छात्र संघ अध्यक्ष

एएमयू छात्र संघ अध्यक्ष मशकूर अहमद उस्मानी का कहना है कि मो० अली जिन्ना की तस्वीर छात्र संघ के यूनियन हाल में लगी हुई है। सन 1938 में आयोजित कार्यक्रम में छात्र संघ ने उन्हें आजीवन सदस्यता प्रदान की थी। तब मो० अली जिन्ना यूनियन हाल भी आए थे। मशकूर ने बताया कि अब तक देश और विदेश के करीब 100 लोगों को छात्र संघ की आजावीन सदस्यता प्रदान की जा चुकी है। उन सभी की फोटो यूनियन हाल में लगी हुई है। इनमें जिन्ना साहब की फोटो भी है।