राजन

ज्योति डे हत्याकांड: मकोका कोर्ट नें छोटा राजन को पत्रकार ज्योति डे की हत्या का दोषी माना

22

इस मामले में दो और मुख्य आरोपियों को कोर्ट नें उम्रकैद की सजा सुनाई है, तथा दो आरोपियों को साक्ष्य की कमी के चलते बरी कर दिया…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

 

मुंबई: महानगर में सात साल पुराने पत्रकार ज्योति डे हत्याकांड में विशेष मकोका अदालत ने अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को दोषी करार दिया है। इसके साथ ही अदालत इसी मामले में छोटा राजन को उकसाने की आरोपी पत्रकार जिग्ना वोरा को बरी कर दिया है। इसी मामले में साजिश रचने का एक तीसरा आरोपी पॉल्सन जोसेफ भी बरी हो गया है। पत्रकार हत्याकांड में कुल 13 आरोपी थे, जिनमें ये तीन मुख्य आरोपी थे। छोटा राजन को भारत लाए जाने के बाद पहले मामले में दोषी ठहराया गया है।

सजा पर बहस के दौरान कोर्ट में सरकारी पक्ष के ने छोटा राजन के लिए ज्यादा से ज्यादा सजा की मांग की है। सरकारी पक्ष का कहना है कि ये किसी व्यक्ति पर नहीं बल्कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला है। सरकारी पक्ष के बाद बचाव पक्ष अपनी दलीलें रखेगा। उम्मीद की जा रही है कि कोर्ट आज ही फैसला सजा पर फैसला हो सकता है।

छोटा राजन इस वक्त दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है, उसे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश किया गया।

जज ने पहले इंग्लिश में अपना फैसला पढ़ा, बाद में हिंदी में छोटा राजन को फैसला बताया गया। छोटा राजन पर आरोप है कि उसने अपने खिलाफ लिखे गए लेख से गुस्साकर पत्रकार जेडे की हत्या करवाई थी।

2011 में मुंबई के पवई इलाके में अंग्रेजी अखबार मिड डे के लिये काम करने वाले वरिष्ठ पत्रकार ज्योति डे की अंडरवर्ल्ड के शूटरों ने 5 गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या के वक्त जेडे अपनी मोटरसाईकिल पर सवार थे। जेडे की हत्या का मुख्य आरोपी डॉन छोटा राजन है।