कानपुर: खुले में कूड़ा जलाने से त्रस्त व्यापारियों नें कैंट बोर्ड को सौंपा ज्ञापन, कड़ी कार्यावाही की माँग

कानपुर
Kanpur Businessmen stand against Environment...
Share this news...

क्षेत्रीय व्यापारियों को कार्बन डाई आक्साईड और कार्बन मोनो डाई आक्साईड से हो रही है स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें…

Ajit Pratap Singh
अजित प्रताप सिंह

 

 

 

 

 

कानपुर: बंगला नंबर 96 मेसोनिक लॉज, मर्रे कंपनी पुल के नीचे बाहर खुले में कूड़ा इकठ्ठा करने और उसके जलाने से क्षेत्रीय व्यापारियों और नागरिकों को हो रही समस्याओं के विषय में आज उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार संगठन द्वारा कैंट बोर्ड सीईओ को संबोधित ज्ञापन बोर्ड कार्यालय में सौंप कार्यवाही की मांग की गई।

ज्ञापन में अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता ने कहा की  मेसोनिक लॉज, बंगला नंबर 96, मर्रे कंपनी पुल के नीचे शादी ब्याह के लिए लान किराए पर दिया जाता है और उसके आस पास सैकड़ों की तादाद में छोटे व्यापारी और दुकानदार हैं। क्षेत्र के व्यापारियों ने व्यापार संगठन को सूचना दी की मेसोनिक लॉज में शादी कार्यक्रम के बाद इकट्ठा हुये कूड़े को मेसोनिक लॉज वाले अपने दरवाज़े पर जला देते हैं।

जलते कूड़े से कार्बन डाइ ऑक्साइड व कार्बन मोनो ऑक्साइड गैस निकलती है। दोनों ही गैसें स्वास्थ्य की दृष्टि से जहरीली मानी जाती हैं। वातावरण में इन गैसों की अधिकता से आसपास के दुकानदारों और व्यापारियों में सांस की बीमारी होने का खतरा बढ़ गया है।

जबकि प्लास्टिक, टायर व इलेक्ट्रॉनिक्स आदि का कबाड़ जलाने से उठने वाला धुआं कैंसर का वाहक भी बनता है। एलर्जी भी हो सकती है। कूड़े में प्लास्टिक बहुत नुकसानदायक हैं।ज्ञापन में आगे कहा गया की खुले में कूड़ा न जलाया जाए इसको लेकर कानून है, साथ ही नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) का रुख भी सख्त है। नियम तोड़ने पर जुर्माने का प्रावधान भी है। मेसोनिक लॉज द्वारा कूड़ा निस्तारण के इस तरीके से निकलने वाली घातक गैसें आबोहवा को दमघोटू बना रही हैं। प्रदूषण अधिक होने के कारण आसपास के कुछ व्यापारियों और नागिरकों को गले और आंख में जलन की शिकायतें हो रही हैं।

अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता ने इस विषय मे कुछ फोटो और विडियो भी कैंट बोर्ड को दिखाए। कहा गया कि कानपुर में हवा की गुणवत्ता मानक यानी एयर क्वॉलिटी इंडेक्स (AQI) 456 तक पहुंच गया है।

ज्ञापन में आगे यह भी कहा गया की यहाँ जब शादी ब्याह का कार्यक्रम होता है तो अक्सर ट्रैफिक जाम की भयंकर समस्या से क्षेत्र के सभी व्यापारियों को जूझना पड़ता है। कहा गया की यह बंगला किसी अन्य काम के लिए आवंटित है पर शादी ब्याह के लिए लंबे किराए के लालच में दे दिया जाता है।ज्ञापन में  इस मामले में उचित जांच की मांग के साथ यह भी सुनिश्चित करने की मांग की गई की लॉज या कैंट में कोई अन्य बंगला भी खुले में कूड़ा अपने पास न ही इकठ्ठा होने दे और न ही जलने दे। साथ मे मांग रखी गई की शादी ब्याह के लिए अगर यह लॉज किराए पर जगह दे तो वह केवल कैंट बोर्ड की अनुमति से ही दे ताकि मानकों का पालन हो सके और क्षेत्र के व्यापारी और नागरिक इस परेशानी से मुक्ति पा सकें। इन सभी बिंदुओं पर जांच कर कार्यवाही करने का आश्वासन कैंट बोर्ड द्वारा व्यापार संगठन को दिया गया।

ज्ञापन देने वालों में सपा प्रदेश उपाध्यक्ष और उप्र उद्योग व्यापार संगठन के कानपुर  अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता, महासचिव हरप्रीत सिंह बब्बर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय बिस्वारी, छावनी व्यापार संगठन अध्यक्ष शब्बीर अंसारी, सचिव राहुल यादव, सचिव सुमित पंत, सचिव मुकेश कनौजिया, सचिव अंकुर गुप्ता समेत सम्बंधित क्षेत्र के  व्यापारी मौजूद रहेे।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।